Ajax Tutorial in Hindi

Ajax Tutorial in Hindi

Definition of AJAX in Hindi :- AJAX का पूरा नाम Asynchronous JavaScript and XML है |  AJAX वेब सर्वर के साथ data का आदान-प्रदान करके वेब पेज को बिना Refresh या Reload किये ही Update कर सकता है। मतलब की इसके उपयोग से web Page को या Page के किसी एक भाग को बिना Refresh किये ही बदला जा सकता है। ऐजैक्स अधिक गुणवत्ता एवं तेजी से काम करने वाला, आकर्षक web page या web based application बनाने में उपयोग किया जाने वाला एक नई टेक्नॉलोजी है।

AJAX कोई programming language या Scripting Language नहीं है बल्कि ये वेब डेवलपमेंट के लिए HTML, JavaScript और XML को मिलकर बनाया गया एक तकनीक है। AJAX मुख्य रूप से तीन काम करता है :-

  1. Server Side Scripting Language जैसे की PHP, ASP या Python के उपयोग से Database में जमा data को प्राप्त करना।
  2. web page को बिना Reload किए पेज के किस बिना पुरे पेज को या किसी एक भाग को Update करना।
  3. web page को बिना Reload किए उपयोगकर्ता द्वारा उपलब्ध करवाए गए जानकारियों को Server तक भेजना।

Example of Ajax in Hindi :- Google Maps एक प्रसिद्ध Web Application है जो Ajax का उपयोग करता है। जब भी कोई उपयोगकर्ता गूगल Map में अपने गंतव्य स्थान में कोई परिवर्तन करता है तो नए Location की दुरी या दिशा बताने के लिए Map का page Reload नहीं होता है, क्योंकि नए जानकारियों को Google Maps अपने Database से लेकर बिना पेज को रिफ्रेश किये ही उपयोगकर्ता के सामने प्रस्तुत करता है।

Advantages and Disadvantages of AJAX in Hindi 

Advantages of AJAX Tutorial in Hindi :-

  • यह उपयोगकर्ता और वेब सर्वर के बीच Data को लाने और लेजाने में लगने वाले समय को कम करता है ।
  • Database की जानकारियों को Web Page पर उपयोगकर्ता के सामने प्रस्तुत करने में बहुत कम समय लेता है।
  • चूँकि Website को बार-बार Refresh नहीं होता है, इसलिए Website या Web Application का परफॉर्मेंस और स्पीड बढ़ाता है, साथ ही उपयोगकर्ता के Browser पर दबाब भी काम बनता है जिससे उसके computer हैंग होने की संभावना कम हो जाती है।
  • Ajax की सबसे बड़ी उपयोगिता ये है की ये Website में उपयोग किये जाने वाले Form में User द्वारा लिखे जाने वाले जानकारियों को तत्काल और ठीक Validate करने में समर्थ है। उदाहरण के लिए अगर कोई user अपने Email और Password को Form में भरकर Login करने का प्रयास कर रहा है तो Ajax के उपयोग से बिना पेज को रिफ्रेश किये ही यह बहुत आसानी से पता लगाया जा सकता है की User के द्वारा लिखा गया जानकारी सही है या नहीं।
  • Ajax द्वारा निर्मित वेबसाइट के उपयोग से उपयोगकर्ता को internet की बचत होती है, साथ ही वेब सर्वर का bandwidth भी बचता है।
  • AJAX की प्रक्रिया पर Server Side Technology का किसी भी प्रकार से कोई प्रभाव नहीं पड़ता, मतलब की website या web application को कौन से सर्वर ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे की Windows, Linux पर चलाया जा रहा है, इनमे कौन से Database जैसे की MySQL, Oracle आदि का उपयोग हुआ है या इन्हे किस Server Side Language जैसे की Python, PHP, ASP के उपयोग से बनाया गया है। इसका  AJAX पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

Disadvantages Of AJAX in Hindi :-

  • इसका उपयोग करके website बनाने में, साधारण website की तुलना में अधिक समय लगता है।
  • Ajax का उपयोग करने के लिए विशेषज्ञ Developer चाहिए, जिन्हें अन्य लोगों की तुलना में ज्यादा वेतन देना पड़ सकता है।
  • AJAX के source code को उपयोगकर्ता के निजी web browser पर देखा जा सकता है, इससे वेबसाइट के सुरक्षा पर प्रभाव पड़ सकता है। वेबसाइट के कुछ Page के लिए तो इसका का उपयोग एक अच्छा निर्णय हो सकता है, लेकिन सभी वेबसाइट में कुछ ऐसे भी पेज होते हैं जिनमें AJAX का उपयोग करने से वेबसाइट की महत्वपूर्ण जानकारियों को गलत प्रकार से प्राप्त किया जा सकता है।
  • ऐसा वेब ब्राउजर जिसमें जावास्क्रिप्ट का कोड disabled हो मतलब कि उसमें JavaScript को नहीं चलाया जा सकता, उसमें AJAX का कोड भी नहीं चल सकता।
  • AJAX से बने वेब पेज को हम Google जैसा सर्च इंजन पर index नहीं कर सकते है, मतलब कि SEO की दृष्टि से यह अच्छा विकल्प नहीं है। इसलिए इसका उपयोग मुख्य रूप से वेबसाइट के उस पेज में किया जाता है, जिनको सर्च इंजन पर index नहीं करवाना होता है। जैसे की user registration पेज।

History and Future Scope of AJAX in Hindi :-

AJAX शब्द का उपयोग सबसे पहले 2005 में किया गया था लेकिन 2001 में ही Paul Bucheit ने अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर इस तकनीक को बना लिया था और अपने website में इसका उपयोग भी किया था। हालांकि AJAX बहुत कमाल की टेक्नोलॉजी है, लेकिन फिर भी वर्तमान समय में इसका उपयोग कम होने लगा है, क्योंकि बाजार में कई इसके कई प्रतियोगी आ चुके हैं जैसे कि 2006 में jQuery, और 2009 में Google कंपनी के कर्मचारियों द्वारा AngularJS और 2013 में facebook कंपनी के द्वारा ReactJs को Launch किया गया। वर्तमान समय में AJAX के 100+ से ज्यादा प्रतिद्वंदी उपलब्ध हैं, यही कारण है कि नए Software या Web Developer अपने Project में AJAX का उपयोग करना पसंद नहीं करते है।

Conclusion on AJAX Tutorial in Hindi :- ऐजैक्स HTML, जावा स्क्रिप्ट और XML की मदद से अधिक छमता वाला, इंटरैक्टिव वेब एप्लिकेशन बनाने में उपयोग किया जाने वाला तकनीक है। 2005 से लेकर 2010 के बीच AJAX framework का उपयोग वेब निर्माण के लिए बहुत अधिक किया जाने लगा था क्योंकि यह तकनीक वेब पेज को बिना Refresh किए ही जानकारियों को डेटाबेस तक पहुंचाने या डेटाबेस से जानकारियों को लेकर प्रदर्शित करवाने की सुविधा देता था। उस समय यह एक क्रांतिकारी तकनीक थी। लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कंप्यूटर और इंटरनेट की दुनिया मिनटों में बदलती है, कोई भी टेक्नोलॉजी चाहे कितनी ही अच्छी क्यों ना हो एक समय के बाद उससे भी ज्यादा बेहतर तकनीक बाजार में उपलब्ध हो जाती है।

जब 2009 में Google कंपनी ने AngularJS और 2013 में facebook कंपनी ने ReactJs जैसे तकनीकों को बाजार में लॉन्च कर दिया तब से AJAX का उपयोग कम होने लगा है। लेकिन आज भी स्कूलों और कॉलेजों की वेबसाइट तथा वेब आधारित एप्लीकेशन के निर्माण संबंधी शिक्षा में AJAX जैसे टेक्नॉलॉजी को पढ़ाया जाता है। इसी कारण कुछ लोग आज भी इसे सीखते हैं। इसके साथ ही कुछ सॉफ्टवेयर इंजीनियर या वेब डेवलपर जिन्हें किसी ऐसे पुराने प्रोजेक्ट जिसे AJAX के उपयोग से बनाया गया हो उसमें कुछ परिवर्तन या Update करने के उद्देश्य से भी इसका उपयोग करते हैं।

इस लेख में हमने एजैक्स को सरल हिंदी भाषा में समझाने का प्रयास किया है। उम्मीद है की AJAX Tutorial in Hindi का यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप एजैक्स के इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सके।

5

No Responses

Write a response