C Language क्या है? What is C Language in Hindi (Full Guide)

C Language क्या है? What is C Language in Hindi (Full Guide)

C Programming Language in Hindi: आज के समय में कंप्यूटर का दौर बढता ही जा रहा है और कई ऐसे लोग जो सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते है या फिर अगर आप कोई programming language सीखना चाहते है तो आपको c language से शुरूआत करनी चाहिए।

C language एक general purpose programming language है इसको सन 1970 में Dennis Ritchie ने Bell Labs में develop की थी।

ये एक high level language है। जो पोर्टेबल application और firmware को develop करने में प्रयोग की जाती है।

अगर आप C language से अपने programming (What is C Language in Hindi) करियर को शुरू करना चाहते है तो ये सबसे अच्छा आप्शन होता है.

क्योंकि C language में आपको programming का structure अच्छे से समझ में आ जाता है और ये language सीखने में भी काफी आसान होती है।

इसके अलावा अगर आप कोई टेक्निकल इंटरव्यू देने जा रहे है तो आपसे C language के कोडिंग से सवाल ज़रुर पूछे जा सकते है।

इसलिए C language सीखना सबसे अच्छा आप्शन रहता है। जब आप C language सीख लेते है तो आपको बाकी कोई language सीखने में ज्यादा परेशानी नही होती है।

क्योंकि C language में आपको बाकि सभी programming language का grammar सीखने में कोई परेशानी नही होती है।

अगर आप भी C language सीखना चाहते है तो आपको C language से ही शुरुआत करनी चाहिए।

इसके बाद आप C++ programming language भी सीख सकते है।

ये C++ programming language प्रीवियस language C language का ही upgraded रूप है।

इस C++ programming language में OOP के feature को ऐड किया गया है।

What Is C Programming Language in Hindi? C language क्या है? 

C language एक general purpose programming language है जो सन 1970 में Dennis Ritchie के द्वारा Bell Labs में develop की गई थी।

इस language को develop करने का मुख्य कारण system programming language के लिए कोई programming language develop था।

इसलिए Dennis Ritchie ने 1970 में इस language को develop किया था।

आपको बता दु कि C language को मुख्य रूप से किसी भी machine में firmware को develop करना और operating system को develop करने में किया जाता है।

आपको बता दु कि C language को कई programming language के मुख्य feature को लेकर बनाया गया है।

C language में simple set of programming, low level access to memory, clean style जैसी चीज़े होती है जो इस programming language को बाकि अन्य programming language से बेहतर बनाता है।

C language बहुत ही ज्यादा Structured language है। इस C language का इस्तेमाल बहुत ही normal और efficient तरह से programming करने में किया जाता है।

दोस्तों आप आपने C Program Output लिकल ने के लिए आप हमारे दिए हुवे Steps को फॉलो करे:

STEP 1:

दोस्तों Programming Languages Code को लिखने के लिए तो आपको सबसे पहले एक Software के जरुरत होंगे जिससे आप Program लिखेंगे और Compile करेंगे यानि Program का Output निकालेंगे।

C Program के लिए सबसे अत्छा Software है Turbo C/C++:

Example of C Programming Language in Hindi

  1. #include <stdio.h>
  2. void main()
  3. {
  4. printf(“Hello, ComputerHindiNotes.com!”);
  5. }

Output: Hello World!

 

Features of C programming language in Hindi:

अगर आप C language में मुख्य features जानना चाहते है तो आपको बता दु कि इसमें बहुत से features होते है लेकिन यहाँ इस आर्टिकल में हम आपको C language के कुछ इम्पोर्टेन्ट features बतायेगे।

C language एक Procedural language है:

C language एक Procedural language है।

इसमें Predefined Instructions की एक लिस्ट को फॉलो किया जा सकता है। C language में किसी भी task को perform करने के लिए एक से ज्यादा बार function का इस्तेमाल किया जा सकता है।

C language में लिखा Program fast execute होता है : fast program execute करना भी C language का एक advantage है।

क्योंकि बाकि अन्य programming languages में ज्यादा features (Garbage collection, dynamic typing) दिए जाते है जिससे Program को execute होने में ज्यादा टाइम लगता है इसलिए C language में program जल्दी execute हो जाता है।

Programming Portability:

क्या आप जानते है कि आप C language में लिखा हुआ कोई भी program कही भी compile किया जा सकता है।

इनकी एक टैग लाइन भी है “write once, compile everywhere”। standard C program बहुत ही portable होते है।

इसका मतलब ये हुआ कि अगर आप एक c program windows 7 पर लिखते है तो आप उसे किसी भी अन्य operating system पर run करा सकते है,

जैसे कि Mac operating system पर या फिर Linux पर या फर किसी अन्य operating system पर आप उस कोड को compile कर सकते है।

Modularity का यूज़ कर सकते है:

जैसा कि आप जानते है कि जब आप कोई language सिख जाते है तो आपको कई बार program लिखने होते है तो आप Molecularity कांसेप्ट का यूज़ करके अपने इस काम को आसान बना सकते है।

जैसे कि अगर आप चाहे तो C language के कोड को section को libraries में fracture में यूज़ करने के लिए store कर सकते है।

C language में कई library होती है जिनको आप पाने program को आसान बनाने के लिए अपने program में ऐड कर सकते है जैसे कि “stdio.h” या फिर “Conio.h” इस तरह की कई libraries होती है।

जब आप इन लाइब्रेरीज को ऐड करते है तो आप C language के features को आसानी से यूज़ कर सकते है।

Statically type language:

C language एक Statically type language है और ये C language का सबसे बड़ा advantage है।

C language के इस feature का मतलब होता है कि variable का type compile time में check होता है ना कि run टाइम में।

इसका फायदा ये होता है कि जब आप अपने program को compile कराते है तो अगर आपके Program में कोई error होती है तो वो तभी show हो जाती है।

C language में एक लिमिट नंबर तक keyword होते है जिसकी वजह से आपको C language सीखने और उसमे कोडिंग करने में ज्यादा परेशानी नही होती है।

[su_box title=”Also Read:” box_color=”#69f42c” radius=”4″]

[/su_box]

Use of C language:

अगर आप ये जानना चाह रहे है कि C language का यूज़ कहाँ होता है तो चलिए आपको बताते है कि C language को programming में कहाँ यूज़ किया जाता है.

operating system develop करने में:

आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि Unix जो एक फेमस operating system है और ये operating system पूरा C language के द्वारा बनाया गया है।

इसके अन्य जितने भी operating system है उन सभी में C language का प्रयोग किया गया है जैसे windows, Android, iOS आदि।

Database:

आप database तो जानते ही होगे, अगर नही जानते तो आपको बता दु कि database वो स्टोरेज होते है जहाँ पर किसी कंपनी या फिर किसी organization का data स्टोर किया जाता है।

और ये database बनाने में C language का यूज़ किया जाता है।

कुछ फेमस database जो C language से बनाये गये है जैसे Oracle, MySQL, MS SQL server आदि कुछ फेमस database है।

Firmware develop करने में:

C language एक ऐसी language है तो हार्डवेयर के के साथ अच्छे से पैच हो जाती है इसीलिए सभी system या फिर machines की firmware को C language में ही develop किया जाता है।

C++ क्या है? || What is C++ Language in Hindi:

ये भी एक programming language है जो C language का एक upgraded version है। इस C++ language को C language की कुछ कमी के चलते बनाया गया था।

C++ language एक object oriented programming language है। इस C++ language को 1979 में develop किया गया था।

C++ language एक high लेवल language और low लेवल language से मिलकर बनी हुई है।

ये C++ language काफी हद तक C language की तरह ही है बस इसमें कुछ एक्स्ट्रा चीज़े ऐड की गई है जिनकी नीचे बताया जा रहा है

Inheritance:

Inheritance object oriented programming का एक feature होता है जिसमे किसी एक कोड को अन्य किसी जगह यूज़ किया जा सकता है।

ये code Re-usability Implement feature को यूज़ करता है।

जैसे कि अगर आपने कोई class बनाया है और उस class के feature को अन्य किसी class में यूज़ करना चाहते है.

तो आप Inheritance feature के द्वारा ऐसा कर सकते है और आपको पुरे function को लिखने की जरुरत नही पड़ती है।

Polymorphism:

Polymorphism भी object oriented programming का एक feature है इस feature के द्वारा आप एक नाम से कई तरह के काम कर सकते है।

जैसे कि Polymorphism के द्वारा आप Polymorphism function overloading का काम कर सकते है।

इससे एक नाम के कई function को अलग अलग condition में execute किया जाता है।

Abstraction:

इस का मतलब होता है end user मतलब ये कि यूजर को सिर्फ वही दिखाया जाये जो वो देखना चाहता है और background फंक्शनलिटी को हाईड कर दिया जाता है।

Encapsulation:

Encapsulation का मतलब होता है Data Hiding।

जिसका मतलब ये है कि object oriented programming में variables और उससे related function को एक दुसरे के साथ bind करता है।

एक class को Encapsulation की हेल्प से data और function को किसी तरह के outside access होने से बचाया जा सकता है।

Encapsulation में आपको data hiding की तीन तरह की प्रोटेक्शन मिलती है इसमें आप “Public, private, और Protected” feature का यूज़ करके आप data को secure कर सकते है।

What is Loop in C Language in Hindi:

अगर आप कोई programming language जानते है तो आपको loop के बारे में पता होगा, और अगर आप नही जानते है कि programming language में loop क्या होता है तो आपको बता दू कि loop का मतलब होता है “किसी चीज़ को बार बार करना”।

इस लिए जब भी किसी program लिखने वाले को कोई ऐसा काम करना होता है जो कई बार रिपीट हो तो अपने program में loop चलता है।

जिससे प्रोग्रामर का काम आसान हो जाता है और उसको किसी भी लाइन को बार बार नही लिखना पड़ता है।

While Loop और Do-While Loop और For loop ये तीन प्रकार का होता है।

program में कोई भी loop चलने के लिए आपको पहले variable को declare करना पड़ता है इसके बाद आपको condition अप्लाई करनी होती है.

इसके बाद आप Loop को किस प्रकार चलाना चाहते है और कब तक चलाना चाहते है ये Declare करना होता है।



Conclusion:

दोस्तों आज के इस आर्टिकल पे बस इतना ही था. I Hope आप सबको C Language in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गए होंगे। अगर आपको C Language के बारे मई और भी जानकारी सहिये तो हमे Comments पे जरूर बताये।

अगर आर्टिकल Helpful लगा तो आप आपने दोस्तों के साथ Share करना न भूले।

4

No Responses

Write a response