data structure in hindi

Data Structures in Hindi

Definition of Data Structure in Hindi :- डेटा संरचना या डेटा स्ट्रक्चर कंप्यूटर में data को व्यवस्थित (organize), प्रबंधन ( manage ) और भंडारण ( storage ) करने का एक विशेष तरीका है, ताकि इसे प्रभावी ढंग से उपयोग किया जा सके । किसी भी data structure को एक विशिष्ट उद्देश्य के अनुरूप data को arrange करने के लिए डिज़ाइन किया जाता है ताकि इसे उचित तरीकों से  काम में लिया जा सके।

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में एक data structures को विभिन्न algorithm (एल्गोरिदम) के साथ काम करने के उद्देश्य से, data को स्टोर करने के लिए चुना या डिज़ाइन किया जाता है। प्रत्येक डेटा स्ट्रक्चर  में data values, data और functions ( फ़ंक्शंस ) के बीच संबंध के बारे में जानकारी होती है।

Uses of data structure in Hindi

Uses of data structures in Hindi:-

Data Structure in Hindi

Data Structure in Hindi

  • Data structures का उपयोग किसी भी प्रकार के जानकारी या डेटा को कंप्यूटर की memory में सुव्यवस्थित तरीके से जमा करना ( storing ) ,एक्सेस करना, delete करना,  delete किये हुए data को पुनः प्राप्त करना  इत्यादि है ।
  • Programming languages ( प्रोग्रामिंग भाषाओं ) जैसे C, C++, Python  में, डेटा स्ट्रक्चर्स का उपयोग Program के Source Code को और Source Code में उपयोग की जाने वाली data type जैसे कि Integer, Character, String, Array, इत्यादि में जमा जानकारियों को व्यवस्थित करने के लिए किया जाता है । कुशल सॉफ्टवेयर डिजाइन करने के लिए data structures बहुत अधिक उपयोगी हैं ।
  • डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम अर्थात DBMS में डाटा स्ट्रक्चर का उपयोग जानकारियों के समूह को अलग-अलग टेबलों के व्यवस्थित तरीके से संग्रहित करने के लिए किया जाता है।

Practical Example of data structure in our day to day life :- हम अपने रोजमर्रा के जीवन में जिन तकनीकों का उपयोग करते हैं उनमें भी डेटा स्ट्रक्चर का उपयोग होता है, उन्हीं के कुछ उदाहरण निम्नलिखित रुप से हैं :-

  • सर्च इंजन जैसे कि गूगल, याहू द्वारा वेबसाइट से जानकारियाँ ढूंढ़ने में ।
  • ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा फ़ाइलों की संरचना को व्यवस्थित करने में।
  • डोमेन नेम से आईपी एड्रेस में परिवर्तन ।
  • डायनेमिक मेमोरी एलोकेशन (dynamic memory allocation)।
  • प्रोसेस शेड्यूलिंग (process scheduling) आदि।

Importance of data structure in Hindi:- बड़ी मात्रा में डेटा का प्रबंधन करने के लिए data structures आवश्यक हैं, जैसे कि databases  या indexing services में कुशलतापूर्वक रखी गई जानकारी को प्रबंधित करने के लिए data structures बहुत अधिक आवश्यक है। Data System  के उचित रखरखाव के लिए memory allocation ( मेमोरी आवंटन ), data interrelationships ( डेटा इंटररेलशिप ) और data processes ( डेटा प्रक्रियाओं ) की आवश्यकता होती है, जिनमें सभी डेटा स्ट्रक्चर मदद करती हैं।

Types of data structures in Hindi

Types of data structure in Hindi:- डेटा स्ट्रक्चर को मुख्य रूप से निम्नलिखित भागों में बांटा जाता है ।

  • Arrays :- Array का उपयोग बहुत सारे सामान प्रकार के Data को एक ही मेमोरी लोकेशन ( memory location ) में स्टोर करने के लिए किया जाता है।
  • Stack:- Stack रेखीय क्रम में इंफॉर्मेशन को Store करता है। इंफॉर्मेशन को जमा करने के लिए LIFO ( last in first out ) या FIFO ( first in first out ) किसी भी एक पद्धति का उपयोग किया जा सकता है।  LIFO का मतलब होता है जो इंफॉर्मेशन Stack में सबसे अंतिम में आएगा उसे Stack में सबसे पहले जमा किया जाएगा और FIFO का मतलब होता है जो इंफॉर्मेशन सबसे पहले आएगा उससे Stack में सबसे पहले जमा किया जाएगा।
  • Queues:- Queues भी Stack की तरह इंफॉर्मेशन को रेखीय क्रम में जमा करता लेकिन जमा करने का तरीका केवल FIFO ही हो सकता है।
  • Linked list:- लिंक लिस्ट में स्टोर किए जाने वाले सभी elements  को एक reference link  के साथ स्टोर किया जाता है, लिंक लिस्ट के सबसे पहले वाले elements को Head  कहते हैं, इसमें Linked list के दूसरे नंबर  पर जमा होने वाले elements  का  reference link होता है।  अगर लिंक लिस्ट ब्लैंक है मतलब उसमें कोई elements  नहीं है तो लिंक लिस्ट का हेड Null यानी 0  होगा।
  • Tree :- Tree एक श्रेणीबद्ध ( hierarchical ) तरीके से data items  को संग्रहीत करता है। Tree में प्रत्येक data items अपने से ऊपर वाले items से या Main items से जुड़ा होता है।  Tree  में एक डाटा आइटम के कई सारे सब डाटा आइटम भी हो सकते हैं जिन्हें चिल्ड्रन डाटा आइटम कहते हैं ।
  • Graphs:- ग्राफ़ non-linear (गैर-रैखिक) तरीके से जानकारियों को संग्रहीत करता है। ग्राफ़ कई अलग़-अलग nodes से मिलकर बना होता है, जिन्हें vertices भी कहते है और इन vertices या nodes को जोड़ने वाली रेखाओं को edges कहते है। ग्राफ़ का उपयोग वास्तविक जीवन की समस्याओं को हल करने के लिए किया जाता है जैसे की telephone networks (टेलीफोन नेटवर्क), social networks (सोशल नेटवर्क), computer networks (कंप्यूटर नेटवर्क) आदि।
  • Tries data structure In Hindi:- यह एक विशेष प्रकार का tree है जो अपने प्रत्येक नोड में केवल strings के अक्षरों को संग्रहित करता है। उदाहरण के लिए “SHIVAM”, “SITA” जैसे स्ट्रिंग्स को Trie डाटा स्ट्रक्चर के मदद से संग्रहित किया जा सकता है।
  • Hashing Tables:- Hashing tables (हैशिंग टेबल) या hash map (हैश मैप) डेटा को associative array के मदद से संग्रहीत करता है। इसमें जानकारियों को संग्रहित करने के लिए विशेष तकनीक का उपयोग किया जाता है, जिसे हैश फ़ंक्शन के नाम से जाना जाता है। इसमें इसमें प्रत्येक के डाटा को प्रत्येक के डाटा को उसके की वैल्यू के साथ संग्रहित किया जाता है, जिसके कारण की डाटा को बाद में बहुत तेजी से ढूंढा जा सकता है | यह किसी भी अन्य डाटा स्ट्रक्चर के मुकाबले काफी तेजी से डाटा को प्रोसेस करने में सक्षम होता है। हैशिंग टेबल आधुनिक डाटा स्ट्रक्चर तकनीक है और यह अन्य सभी डेटा संरचना के तुलना में अधिक जटिल होता है। यह बहुत बड़ी मात्रा में जानकारियों को संग्रहित करने में सक्षम है।

Characteristics of data structure In Hindi:- डेटा स्ट्रक्चर की मुख्य विशेषताएँ निम्नलिखित रूप से है

  • Linear or non-linear (रैखिक या गैर-रेखीय):- Linear data structures इस विशेषता का वर्णन करता है कि क्या डेटा आइटम chronological sequence ( कालानुक्रमिक अनुक्रम ) में व्यवस्थित किया गया है, जैसे कि एक array,  non-linear data structures इस विशेषता का वर्णन करता है कि डेटा आइटम unordered sequence ( अनियोजित अनुक्रम )  में व्यवस्थित किया गया है, जैसे कि एक
  • Homogeneous or non-homogeneous ( समजातीय या गैर समजातीय ) :- यह विशेषता बताती है कि Computer Memory में Store किये गए सभी data items एक ही प्रकार के हैं या विभिन्न प्रकार के हैं।
  • Static or dynamic :- यह विशेषता बताती है कि data structures को कैसे compiled ( संगृहीत ) किया जायेगा । Static data structures को करते समय आकार, संरचना और memory locations  fixed होते हैं जबकि Dynamic data structures  आकार, संरचनाएं और memory locations उपयोग के आधार पर सिकुड़ या विस्तारित हो सकते हैं।

Need of Data Structures in Hindi :- कंप्यूटर सिस्टम में डाटा स्ट्रक्चर की मुख्य जरूरतें निम्नलिखित रुप से है :-

  • To Increase Processor speed:- जैसे-जैसे एप्लिकेशन जटिल होते जा रहे हैं और डेटा की मात्रा दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। अधिक मात्रा में डाटा को प्रोसेस करने के लिए अधिक क्षमता वाले प्रोसेसर चाहिए। लेकिन चुकीं कंप्यूटर में फाइलों की संख्या सीमित होती है, इसलिए फाइलों की बढ़ती संख्या को संभालने के लिए नए हार्डवेयर उपकरण जोड़ने होंगे जोकि बहुत अधिक महंगा और मुश्किल काम है। इसलिए बहुत आवश्यक है की data structure के आधुनिक तकनीकों के द्वारा दिन-प्रतिदिन फाइलों की बढ़ती संख्या को संभाला जाए।
  • To Increase Data Search speed :- मान लीजिए कि आप जिस शहर में रहते है उसकी कुल जनसंख्या एक लाख हैं, जिनका नाम एक डेटाबेस में संग्रहित है। अब आप उस डेटाबेस से अपना नाम ढूंढना चाहते तो इस काम को करने के लिए डेटाबेस के प्रत्यय रिकॉर्ड के साथ आपका नाम को मिलाना पढ़ेगा। ऐसे कामों में बहुत लंबा समय लगता है। ठीक इसी प्रकार जब हम गूगल जैसे सर्च इंजन पर जानकारी को ढूंढते हैं, तो यह सर्च इंजन लाखों अलग-अलग वेबसाइट से सर्वश्रेष्ठ जानकारियां को लेकर हमारे समक्ष प्रस्तुत करता है। इस तरह के काम को जल्दी से जल्दी पूरा करने के लिए डाटा स्ट्रक्चर के आधुनिक तकनीक की आवश्यकता होती है।
  • To Handle Multiple requests :- जब बहुत सारे लोग एक साथ Web Server से किसी तरह की जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं या डाउनलोड करते हैं, तो सर्वर पर बहुत ज्यादा दबाव बनता है। इस प्रकार के दबाव को संभालने के लिए वेब सर्वर पर जानकारियों को डाटा स्ट्रक्चर के आधुनिक तकनीकों के अनुसार सुव्यवस्थित करना बहुत आवश्यक है।

Advantages of Data Structures in Hindi:-

  • यह कंप्यूटर सिस्टम के हार्ड डिस्क में जानकारियों को कुशलता से संग्रहित करने की सुविधा प्रदान करता है।
  • यह बड़े डेटाबेस और जटिल फाइल संरचनाओं को मैनेज करने एवं उन्हें जल्दी से प्रोसेस करने में मदद करता है।
  • यह कुशल एल्गोरिदम के डिजाइन में मदद करता हैं।
  • यह जानकारियों को इस प्रकार से व्यवस्थित करने की सुविधा देता है कि कंप्यूटर के हार्डवेयर (CPU and Memory) पर कम से कम दबाव बनाकर ज्यादा से ज्यादा जानकारियों के साथ काम किया जा सके।
  • यह एक data को कई अलग-अलग प्रोग्राम के बीच साझा करने की अनुमति देता है, जिससे कि सभी प्रोग्राम एक ही समय पर एक जानकारी का उपयोग कर सकते हैं।
  • यह सूचनाओं को कंप्यूटर में सुरक्षित तरीके से जमा करता है और यह सुनिश्चित करता है कि आवश्यक सूचना बाद में उपयोग करने हेतु उपलब्ध रहे।

Disadvantages of Data Structures in Hindi:-

  • केवल एक विशेषज्ञ ही डाटा स्ट्रक्चर से जुड़े हुए समस्याओं को ठीक कर सकता है या उसमें कुछ आवश्यक बुनियादी परिवर्तन कर सकता है। किसी सामान्य यूजर के लिए इसे समझना बहुत मुश्किल है।
  • जानकारियों के कुछ ऐसे विशेष रूप होते हैं जिन्हें डाटा स्ट्रक्चर के मदद से संग्रहित करने पर यह बहुत ही धीमे तरीके से काम करता है, क्योंकि यह उस प्रकार के डाटा को जल्दी प्रोसेस करने में सक्षम नहीं है।

Operations on Data Structures in Hindi :- डेटा स्ट्रक्चर की मदद से डेटा के साथ निम्नलिखित प्रकार की Operations या गतिविधियां की जाती है

  • Traversing (ट्रैवर्सिंग) :- कुछ विशिष्ट ऑपरेशन करने के लिए डेटा स्ट्रक्चर के प्रत्येक element को visit करना या प्रत्येक element की वैल्यू को संसाधित (processing) करना।
  • Insertion (इन्सर्शन):- यह डाटा स्ट्रक्चर में नए डाटा element को जोड़ने की प्रक्रिया है।
  • Deletion (डिलीशन):- किसी डाटा स्ट्रक्चर से डाटा एलिमेंट को हटाने की प्रक्रिया है।
  • Searching (सर्चिंग) :- यह डेटा स्ट्रक्चर के भीतर एक एलिमेंट के लोकेशन को खोजने की प्रक्रिया है।
  • Sorting (सॉर्टिंग) :- यह डेटा स्ट्रक्चर के element को किसी विशिष्ट क्रम में व्यवस्थित करने की प्रक्रिया है।
  • Merging (मर्जिंग) :- डेटा स्ट्रक्चर के दो समान element के Values को एक साथ मिलाना।

Conclusion on Data Structure  in Hindi :- डेटा स्ट्रक्चर्स कंप्यूटर में डेटा को संग्रहीत और व्यवस्थित करने का एक कुशल तरीका प्रदान करता है, ताकि data को कुशलता से उपयोग किया जा सके। arrays (एरेज़), Linked List (लिंक्ड लिस्ट), Stack (स्टैक), Queue (क्यू ), इत्यादि डेटा स्ट्रक्चर्स के कुछ प्रमुख उदाहरण हैं। कंप्यूटर साइंस के लगभग हर पहलू जैसे की सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट एंड प्रोग्रामिंग, ऑपरेटिंग सिस्टम, कंपाइलर डिज़ाइन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ग्राफिक्स आदि में डेटा स्ट्रक्चर्स का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

इस लेख में हमने डाटा स्ट्रक्चर के सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों को सरल हिंदी भाषा में परिभाषित करने का प्रयास किया है। उम्मीद है की Data Structure  in Hindi का यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप हमें इस लेख से संबंधित कोई सुझाव देना चाहते तो नीचे कमेंट में लिखकर हमें जरूर बताएं जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सकें।

2

No Responses

Write a response