Data Encapsulation in hindi

What is Encapsulation in Hindi

Definition of Encapsulation in Hindi :-  एनकैप्सुलेशन शब्द का हिंदी में अर्थ होता है कैप्सूलीकरण।  मतलब की किसी खोल या झिल्ली के उपयोग से किसी वस्तु या विषय को छुपाना । जैसे कि किसी दवाई के कैप्सूल में एक खोल के अंदर दवाई के मुख्य हिस्से को छुपा कर रखा जाता है। ठीक इसी प्रकार के प्रक्रिया या पद्धति को Encapsulation कहते हैं। एनकैप्सुलेशन की तकनीक का मुख्य उद्देश्य होता है किसी भी वस्तु को बाहरी हस्तक्षेप से सुरक्षित करना।

Object Oriented Programming (OOP) में  Data Encapsulation एक बहुत महत्वपूर्ण परिकल्पना है। ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग जैसे की Java, C++, Python में encapsulation के उपयोग से data और उस पर काम करने वाले function को एक Class के अंदर बांध दिया जाता है, इससे बाहरी हस्तक्षेप से डेटा और कोड सुरक्षित रहते है। यह कोड लिखने की प्रक्रिया को आसान बना देता है तथा किसी प्रोग्रामर को कोडिंग की प्रक्रिया के दौरान बार-बार सामान प्रकार के कोड को दोहराहना नहीं पड़ता। जिसके फलस्वरुप प्रोग्राम का कोड कोटा एवं संगठित हो जाता है। संक्षेप में कहें तो encapsulation प्रोग्राम के गुणवत्ता को बढ़ता है एवं कोड लिखने की प्रक्रिया में लगने वाले समय, लागत एवं प्रयास को कम करता है।

सभी ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एवं उनके उपयोग से बनाए गए frameworks में एनकैप्सुलेशन की तकनीक का उपयोग अनिवार्य रूप से किया जाता है। यह ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग का एक प्रमुख आधार है।

Need Of Encapsulation in Hindi

Need Of Encapsulation in Hindi :- ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग सिस्टम (OOPs) में एनकैप्सुलेशन की आवश्यकताएं निम्नलिखित रुप से है:-

  • इनकैप्सुलेसन के कारण Data और Function एक साथ class के अंदर आ जाते है, इसके बाद programmer जरूरत के अनुसार अलग-अलग Access Specifier जैसे कि public, private, protected के उपयोग से यह निर्णय लेता है कि कौन से डेटा का उपयोग इस Class के अंदर करना है और कौन से डेटा का उपयोग इस Class के बाहर भी करना है इस तरह data अनचाहे अवैध पहुंच से सुरक्षित हो जाता है और programmer का पूरा नियंत्रण क्लास पर हो जाता है।
  • इनकैप्सुलेसन के कारण सभी classes एक दूसरे से अलग हो जाते हैं, इसीलिए किसी Program का Source Code बहुत ही अच्छे से संगठित हो जाता है, इसी कारण जब किसी एक Programmer द्वारा लिखे गए कोड को पढ़कर कोई दूसरा Programmer या Code Tester समझना चाहता है तो उसके लिए यह काम काफी आसान हो जाता है।

Real Life Example of Encapsulation in Hindi :-

जब भी आप अपने email account जैसे की GMail, Yahoo, Hotmail या अन्य किसी भी email में login करते हैं, तो सही ईमेल और उसके सही पासवर्ड के जांच के लिए हमारे जानकारी के बिना बहुत ही प्रक्रियाएं होती है जिस पर हमारा कोई नियंत्रण नहीं होता। अगर सब को यह पता चल जाए कि password सही है या गलत इसकी जांच किस तरीके से किया जाना है तो लोग इस जानकारी का गलत तरीके से उपयोग कर सकते हैं, इसलिए इसे दुरुपयोग से बचाने के लिए बहुत सारी प्रक्रियाओं को छुपा कर किया  जाता है, और इस प्रक्रिया पर सामान्य उपयोगकर्ता का किसी भी प्रकार से कोई नियंत्रण नहीं होता है।

Advantage of Encapsulation in Hindi :- एनकैप्सुलेशन के प्रमुख लाभ निम्नलिखित रुप से है :-

  • यह डाटा के अनचाहे उपयोग से बचाता है Code को सुरक्षित बनाता है।
  • यह मानवीय त्रुटियों को कम करता है ।
  • Encapsulation के कारण हम एक Class के Code को बार-बार उपयोग में ले सकते हैं इसीलिए हमें समान  प्रकार के Code को बार-बार नहीं लिखना पड़ता है इससे समय की बचत होती है।
  • Encapsulation के कारण प्रोग्राम का Source Code काफी साफ सुथरा और संगठित हो जाता है, इसीलिए एक इंसान द्वारा लिखा गया कोड को प्रोजेक्ट में काम कर रहे दूसरे लोगों द्वारा भी आसानी से समझा जा सकता है।
  • इनकैप्सुलेसन के कारण Code को edit करना और आवश्यकता पड़ने पर Source Code के किसी भाग में बदलाव करना बहुत आसान हो जाता है।
  • सभी आधुनिक programming languages (प्रोग्रामिंग लैंग्वेज) एवं scripting languages (स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज) ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग सिस्टम के नियमों का पालन करता है एवं उनमें एनकैप्सूलेशन का भी उपयोग अनिवार्य रूप से किया जाता है क्योंकि एनकैप्सुलेशन ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है।
  • Code में मौजूद संभावित गलतियों की जांच करना काफी आसान हो जाता है और जब Unit Testing में source code के त्रुटियों को ढूंढने के लिए कोड के प्रत्येक इकाई को एक-एक करके जाँचा जाता है एवं उनमे मौजूद संभावित गलतियों को ढूंढने का प्रयास किया जाता है तो उसमें काफी लंबा समय लग सकता है। जिसे की एनकैप्सुलेशन बहुत हद तक कम कर देता है।
  • परिवर्तन संसार का नियम है, कोई भी सॉफ्टवेयर उत्पाद एक समय के बाद नए परिवर्तनों की मांग करती है। ऐसे में अगर किसी सॉफ्टवेयर उत्पाद को एनकैप्सूलेशन की तकनीक का उपयोग करके बनाया जाए तो उसमें बड़ी आसानी से नए परिवर्तन करके update किए जा सकते हैं तथा इस प्रक्रिया में काफी कम लागत एवं समय बर्बाद होता है।

Conclusion on Data Encapsulation in Hindi:- एनकैप्सुलेशन सभी ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे किC++, Java, Python Programming Language आदि में उपयोग किया जाने वाला एक तकनीक है, जिसके मदद से डाटा एवं फंक्शन को एक Class के अंदर एक कैप्सूल की तरह बांध के रखा जाता है। जिसके फलस्वरूप कोई भी प्रोजेक्ट में काम कर रहे दूसरे सॉफ्टवेयर इंजीनियर या प्रोग्रामर उस data या Function में कोई परिवर्तन या छेड़-छार नहीं कर सकते, केवल आवश्यकता पड़ने पर उस क्लास का ऑब्जेक्ट बनाकर उनका उपयोग कर सकते हैं। आजकल सभी आधुनिक सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट के निर्माण में इसी प्रकार के तकनीक का उपयोग किया जाता है जिसका मुख्य कारण यह है की ये प्रोग्राम के source Code को छोटा करता है तथा सामान प्रकार के कोड को बार-बार लिखने में बर्बाद होने वाले समय को भी कम कर देता है।

इस लेख में हमने डाटा एनकैप्सूलेशन को सरल हिंदी भाषा में समझाने का प्रयास किया है। उम्मीद है कि आपको Data Encapsulation in Hindi का यह लेख पसंद आया होगा। अगर आप इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं। जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सकें।

1

No Responses

Write a response