Entrepreneur क्या है? What is Entrepreneur in Hindi (Full Guide)

Entrepreneur क्या है? What is Entrepreneur in Hindi (Full Guide)

उद्यमी क्या होता है? | What is Entrepreneur in Hindi: ऐसी बहुत सी बातें हैं जो आमतौर पर लोग नहीं जानते और इसके लिए वे अलग-अलग वेबसाइट पर जाकर उसका जवाब ढूंढते हैं।

उनमें एक शब्द है उद्यमी यानी Entrepreneur, इसका मतलब क्या होता है और इसे क्या कहते हैं इसकी जानकारी इंटरनेट पर अलग-अलग जगहों पर दी होती हैं लेकिन आज हम आपके लिए entrepreneur meaning in hindi लाए हैं और इस टॉपिक में हम आपको Entrepreneurship क्या होती है इससे जुड़ी सारी जानकारी देंगे।

इसके साथ ही आप ये भी जानेंगे कि Entrepreneurship बनने के लिए किसी व्यक्ति में कौन-कौन सी विशेषताएं होनी चाहिए। 

वैसे तो हर इंसान अपनी जिंदगी में कुछ ना कुछ अलग करना चाहता है लेकिन सफलता हर को किसी को मिले ये जरूरी नहीं है।

मगर एक बात हमेशा तय होती है अगर आपने सच्चे मन से दिन-रात मेहनत की है तो वो मेहनत खाली नहीं जाती।

Entrepreneurs लोगों की सबसे खास बात ये होती है कि वो दूसरे प्रोफेशनल लोगों से उन्हें अलग बनाती है।

ऐसे लोग ये नहीं सोचते कि पीछे क्या छूट गया और हमेशा वे पॉजिटिव ही रहते हैं।

Entrepreneur क्या होता है? | What is Entrepreneur:

meaning of entrepreneur in hindi

meaning of entrepreneur in hindi

Definition of Entrepreneur in Hindi :- Entrepreneur (एंटरप्रेन्योर) यानी उद्यमी वही व्यक्ति होता है जो अपना खुद का बिजनेस शुरु करता है । उसमें हर जोखिम उठाने की क्षमता होती है और वे अपने Profit में और Profit करने के बारे में सोचता है। Entrepreneur आदमी बहुत साहसी होता है और वो समाज के विकास में भी भागीदार माना जाता है।

एक उद्यमी अपने उद्योग को बढ़ाने के लिए दूसरे व्यक्तियों को रोजगार देता है और इससे समाज में व्याप्त बेरोजगारी की समस्या भी कम होती है। एक आम इंसान अपने छोटे से Idea पर काम करता है और मेहनत से उसे बड़ा बना देता है जिसे बाद में युवा फॉलो करने लगते हैं। उदाहरण के तौर पर एक इंसान जो किसी रोड के किनारे ठेला लगाने का काम शुरु करता है और वो उसमें हुए हर नुकसान को सहता रहता है। इसमें अगर वो संयम से काम ले और लगा रहे अपने इसी काम में तो फिर वो धीरे-धीरे एक होटल का मालिक भी बन सकता है। Entrepreneur बनना आसान नहीं होता है इसके बनने के लिए सब्र और मेहनत की बहुत जरूरत होती है और ऐसे लोग ही बाद में दूसरों के लिए मोटिवेशनल और इंस्पिरेशन बनते हैं।

 

[/su_box]

उद्यमी कैसे बने ? | How to Become an Entrepreneur:

Entrepreneur Kaise Bane :- किसी Business को शुरु करने से पहले हमें नहीं पता होता है कि आगे क्या होने वाला है। 

हम सिर्फ अपनी मेहनत, विश्वास और पैसों के साथ आगे बढ़ना शुरु करते हैं और वैसे भी आज के कॉम्पटीशन के दौर में हर तरफ हम जो काम सोचते हैं वो पहले से ही 10 लोग कर रहे होते हैं।

ऐसे में हमें अपने अंदर कौन से Skill Develop करने चाहिए जिससे हमारा शुरु किया हुआ बिजनेस दूसरों से अलग बन सके।

अपने इस स्किल को पहचानने के लिए entrepreneur के अंदर ये सभी Qualities होनी चाहिए…

Characteristics of an Entrepreneur in Hindi

कोई भी इंसान बिजनेस छोटे लेवल पर ही शुरु करता है। ऐसे में जब उसका काम बढ़ता है तो धीरे-धीरे वो अपनी टीम को बढ़ाता है।

ऐसे में कुछ लोग जब काम ज्यादा चलने लगता है तो अपने साथ काम करने वालों को नौकर समझने लगते हैं लेकिन यही उनकी गलती होती है।

वे अपने Leadership Quality को अपने साथ काम करने वालों में दिखाए और उनके साथ एक टीम की तरह ही व्यवहार करे ना कि मालिक की तरह, तभी वे सभी मन लगाकर उस काम को आगे बढ़ाते हैं।

सोचने का तरीका | Way of Think:

अगर आप साथ काम करने वाले employees का ध्यान एक फैमिली की तरह रखते हैं तो सामने वाला भी डेडिकेशन के साथ काम करता है।

आपको अपने हर कर्मचारी चाहे वो चपरासी ही क्यों ना हो, सबका परिवार की तरह ख्याल रखना आना चाहिए।

ऐसी क्वालिटी मालिक में देखकर कोई भी कर्मचारी आपकी कंपनी को छोड़ना नहीं चाहेगा।

कभी किसी को बेवजह कंपनी से नहीं निकालें, जब तक कर्मचारी खुद छोड़ना ना चाहे। ऐसी सोच के साथ आपका बिजनेस खूब आगे जा सकता है।

हर प्रोबलम का सॉल्यूशन | Solve Every Problem By Yourself:

बहुत से लोग बिजनेस तो शुरु कर देते हैं लेकिन वे सिर्फ पैसों के बल पर उसे आगे बढ़ाते हैं और उनमें उस बिजनेस को लेकर कोई सेंस नहीं होता है।

इसके बाद जब आपके employes में कोई उस काम में माहिर हो और वो अपना आइडिया बताकर उसमें कुछ बदलाव लाना चाहे तो उसकी बाद को सुनना चाहिए।

कभी-कभी उन्हें ये काम नहीं भी आता है तो आपके अंदर इतनी क्षमता होनी चाहिए कि आप उस प्रोबलम को खुद Solved कर सकें, इसलिए वैसे ही बिजनेस में ध्यान दीजिए जो आपको बहुत अच्छे से आता हो।

आत्मविश्वास होना चाहिए | Be Self Confidence:

बिजनेस में प्रॉफिट होता है तो आप बहुत खुश होते हैं लेकिन अगर नुकसान होता है तो सारा इल्जाम बहुत से लोग अपने कर्मचारी पर डाल देते हैं।

उनके अंदर आत्मविश्वास नहीं होता है कि वे इस नुकसान से उबर पाएंगे, ऐसे में या तो वे कर्मचारियों को काम से निकालने लगते हैं या बेवजह उनके ऊपर गुस्सा निकालकर अपनी भड़ास निकालते हैं।

ऐसा करने से बचें वरना आपके कर्मचारी भी आपसे दूर भागने का रास्ता खोज सकते हैं।

अपने आत्मविश्वास को बनाए रखें और दिमाग से काम लें क्योंकि बिना दिमाग के आप अच्छे उद्यमी नहीं बन सकते हैं।

नहीं होना चाहिए Fail होने का डर | Never fear of Fail:

अगर आपने बिजनेस शुरु किया है तो उसमें फायदे के साथ नुकसान होना भी तय होता है।

ऐसे में बहुत से लोग डरकर अपना बिजनेस बदल देते हैं और सारी उम्र वे ऐसा ही करते रह जाते हैं।

फिर वे किसी काम में माहिर भी नहीं हो पाते, ऐसे में अच्छा है कि आपके अंदर फेल होने का डर बिल्कुल नहीं होना चाहिए।

इसके अलावा आपके अंदर नुकसान सहने की क्षमता भी भरपूर होनी चाहिए।

अपने लक्ष्य के पीछे भागें | Chase your Aim:

बिजनेस शुरु करने से पहले अपना लक्ष्य निर्धारित करें और फिर उसकी सारी जानकारी इकट्ठा कर लें।

इसके बाद अपने काम को शुरु करें और उसमें लगे रहें फिर चाहे वो आपको नुकसान दे या मुनाफा क्योंकि छोटा मुनाफा और बड़ा नुकसान आपको सबक देता है इसके बाद आप उस काम में परफेक्ट हो जाते हैं।

आपका लक्ष्य निर्धारित रहेगा तो आप धीरूभाई अंबानी भी बन सकते हैं क्योंकि उन्होंने भी अपना काम बहुत छोटे स्तर से शुरु किया था।

मेहनत पर विश्वास रखें Luck पर नहीं | Belelive your hard work not luck:

बहुत से लोग बिजनेस शुरु करने से पहले भगवान से कहते हैं कि मैं ये काम शुरु करने जा रहा हूं मेरी किस्मत बनाए रखना।

ऐसा कहने वाले कम ही सफल हो पाते हैं।

Become a successful entrepreneur आपको आत्मविश्वास के साथ अपनी मेहनत को बनाए रखना होता है।

इसके बाद किस्मत आपकी खुद बनती चली जाएगी और मेहनती लोगों के आगे तो पूरी दुनिया झुकती है।

समय-समय पर लेते रहें Risk:

बिजनेस का दूसरा नाम ही रिस्क होता है, और अगर आपमें रिस्क लेने की क्षमता नहीं है तो आपको बिजनेस करने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए।

अपने बिजनेस में ग्रोथ करने के लिए इंसान को रिस्क लेना ही पड़ता है।

उदाहरण के लिए बताते हैं जब रिलायंस जियो की बात मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने अपने पिता को बताई तो पहले वे राजी नहीं हुए, क्योंकि ईशा ने सिम फ्री में और एक साल तक वैद्यता भी फ्री रखने की बात कही थी।

मुकेश अंबानी को लगा कि इसमें काफी नुकसान होगा लेकिन फिर भी बेटी की जिद में उन्होंने जियो लॉन्च किया और सबकुछ फ्री रखा लेकिन आज जियो अपने महंगे पैक्स के साथ मार्केट में है और लोग उसे करवाते हैं।

इसलिए रिस्क लेना बहुत जरूरी है एक अच्छा entrepreneur बनने के लिए।

Also Read: Business Kaise Kare in Hindi (Full Guide)

Also Read: YouTube Se Paise Kaise kamaye (Full Guide)



निष्कर्ष || Conclusion:

इंसान के अंदर कोई भी खूबी मां के पेट से जन्म नहीं लेती, वो उस खूबी को इस धरती पर आकर अपने अंदर निखारता है।

फिर वो उस व्यक्ति की मेहनत और विश्वास से इतनी निखरती है कि दुनिया उसके लिए तालियां बजाती है।

अगर आपने भी इंटरनेट पर Meaning of entrepreneur in hindi ढूंढा है तो उम्मीद करते हैं आपकी तलाश इस आर्टिकल को पढ़कर पूरी हो गई होगी।

2

No Responses

Write a response