GDP Full Form In Hindi | GDP क्या है?(Full Guide)

GDP Full Form In Hindi | GDP क्या है?(Full Guide)

GDP full form in Hindi | GDP क्या है? (What Is GDP):- Hello Friends आज हम आपको अपने इस Article के जरिये एक Useful Information के बारे में बताने जा रहे है जिसका नाम है GDP मतलब की GDP क्या है?( What Is GDP) अक्सर इस Word का Use देश की अर्थव्यवस्था से जोड़ा जाता है।

बेशक अगर आप भारत के नागरिक है तो आपने GDP के बारे में ज़रूर सुना होगा।

लेकिन आख़िर GDP क्या है? इसके बारे में शायद ही आपको पता हो क्योकि यह एक ऐसी Word है जिसकी जानकारी लोगो को जानकारी नही होती है।

इसीलिए आज हम आपको इस महत्वपूर्ण जानकारी को आपके साथ Share करने जा रहे है।

जीडीपी देश की अर्थव्यवस्था या तरक्की का संकेत देती है।

अक्सर भारत की जीडीपी गिर गयी या भारत की जीडीपी बड़ गयी यह वर्ड हर दिन अख़बार, समाचार में सुनने को मिलता है।

लेकिन आख़िर यह क्या है? अब जिन लोगो को इसकी जानकारी होती वह तो इस समय भारत का जीडीपी क्या है?

निकालकर पता कर लेते है लेकिन जिन्हें इसकी जानकारी नही होती है उन्हें समस्या ही जाती है। इसलिए आज हमने इस Article को मुख्य रूप से उन लोगो के लिए शेयर किया है जी GDP वर्ड से अंजान है।

So Friends अगर आप भी GDP क्या है? ( What Is GDP In Hindi) इसकी  GDP Full Form क्या होती है? और इस समय भारत की GDP क्या है?

आदि के बारे में जानना चाहते है तो यह Article आपके लिए बेहद Useful होने वाला है। So अधिक जानकारी के लिए Article को Carefully Last तक Read करे।

GDP क्या है? (What Is GDP In Hindi)

GDP (Gross Domestic Product) जिसे हिंदी में सकल घरेलू उत्पादन कहाँ जाता है। यह देश की अर्थव्यवस्था को मापने का महत्वपूर्ण पैमाना होता है।

जिसकी मदद से देश मे उत्पादन की गई सभी वस्तुओं की अंतिम मूल्य की गणना की जाती है। जानकारी के लिए बता दे कि GDP की गणना हर तीसरे महीने में जाती है।

GDP मुख्य रूप से भारत की कृषि (Agriculture), उद्योग (Industry), सर्विस (Service) पर निर्भर करती है। मतलब की हम कहे सकते है कि भारत मे कृषि, उद्योग, सर्विस में उत्पादन बढ़ने और कम होने की स्थिति में देश की GDP का हिसाब लगाया जाता है।

जैसे कि एक अगर हम इसे सरल भाषा मे समझे तो अगर भारत मे किसी कंपनी के द्वारा लैपटॉप बनाये जाते है और एक लैपटॉप की कीमत 20000 रुपये है तो भारत की GDP 10*200000= 2 लाख रुपये होगी।

GDP का क्या मतलब होता है (Meaning Of GDP Hindi)

देश मे मौजूद किसी भी चीज, प्रोडक्ट का जो मूल्य होता है उसे जीडीपी (सकल घरेलू उत्पादन)कहते है। फिर चाहे वह सरकार कर द्वारा बनाई गई हो, या फिर किसी नागरिक के द्वारा गयी है।

लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे की देश के बने प्रोडक्ट को ही इसमे जोड़ा जाता है। बाहर किसी देश से आयात किये गए प्रोडक्ट को इसमे शामिल नही किया जाता है।

इसे हम सरल शब्दों में ऐसे भी समझ सकते है कि जीडीपी किसी देश का ऐसा एक नंबर होता है जो किसी भी देश की Economic Goth को प्रदर्शित करता है।

जिसे देश के उद्योग, कृषि या देश के लोगो के द्वारा कितना खर्च किया जा रहा है और Investment की Groth बढ़ रही है या घट रही है। इन सबके बारे में GDP पैमाने के द्वारा पता लगाया जाता है।

जानकारी के लिए बता दे कि जब देश की GDP गिरती है तो देश मे महगांई बढ़ जाती है।

और लोगो के द्वारा Investment कम हो जाता है। जैसे कि अभी आपने सुना होगा कि देश मे प्याज 20 रुपये किलो से बढ़कर 120 हो गया मतलब की GDP गिर गयी।

और जब प्याज़ इतना महंगा होगा तो बेशक कुछ लोग उसे नही खरीदेंगे मतलब की Investment नही करेंगे। जिससे उत्पादन और निर्यात में गिरावट आ जाती है ।

GDP का पूरा नाम क्या है (Full Form Of GDP)

अगर आप Student है तो अपने Often Competition Exam में GDP से जुड़े जैसे कि GDP की Full Form क्या होती है? इसका हिंदी में क्या मतलब होता है?

इस तरह के Question आते रहते है।

So इसलिए As A student GDP की full form के बारे में आपको पता होना बहुत ज़रुरी है।

तो नीचे दी गयी Full form को आप याद कर ले या फिर आप किसी अपनी नोट बुक में इसे नोट करके रख ले। GDP की full form इस प्रकार है –

[su_note]GDP FULL Form In English = GDP (Gross Domestic Product)[/su_note]

[su_note]GDP FULL Form In Hindi = GDP (सकल घरेलू उत्पादन)[/su_note]

GDP कैसे मापते है? How is GDP measured?

अक्सर समझ सुनने में आता है कि भारत की GDP या आर्थिक विकास दर घट कर 8% रहे गयी है। या फिर GDP बढ़कर 10% हो गयी है। ये तो सभी ने सुना होगा लेकिन फिर मन मे सवाल आता है कि आख़िर GDP कैसे निकालते है? How is GDP measured तो Friend अब अब आपको इसके लिए परेशान होने की बिल्कुल भी जरूरत नही है क्योंकि GFP मापने के बिल्कुल simple तरीका है। जिसके बारे में हमने सरल तरीके से समझाया है-

GDP मापने का Formula:

GDP = खर्च+निवेश+सरकारी खर्चे+कुल निर्यात

GDP = C + I + G + (X − M).

खर्च (Consumption)

इसका सीधा मतलब होता है कि जब हम बाजार से किसी प्रोडक्ट को खरीदते है तो उस प्रोडक्ट की जो कीमत अदा करते है उसे खर्च (Consumption) कहते है। उदाहरण के लिए जैसे कि आप किसी मॉल में कपड़े खरीदने जाते है तो वहां से एक टी शर्ट लेते है तो उस टी शर्ट की कीमत जो हम अदा करते है उसे खर्च कहते है।

निवेश (Gross Investment)

निवेश इसका मतलब होता है कि कितने लोग किसी भी business में अपना पैसा खर्च कर रहे है।

सरकारी खर्च (Government Investment)

जगह-जगह सरकार जो सरकारी स्कूल, सड़क आदि का निर्माण कराती है तो उसमें जो खर्च आता है उसे सरकारी खर्च कहते है।

निर्यात (Export)

हमारे देश मे जो भी Product बनाये जाते है तो उन Product को बनाने में जो कीमत लगती है उसे निर्यात कहाँ जाता है और उसे ही जीडीपी में जोड़ा जाता है।

GDP कितने प्रकार की होती है? (Tyeps Of GDP In Hindi)

हम सभी जानते है कि किसी भी उत्पादन की क़ीमतें एक महँगाई के साथ घटती बढ़ती रहती है। इसलिए केंद्रीय सांख्यकी कार्यालय जीडीपी सकल घरेलू उत्पाद को मुख्यता दो तरह से प्रस्तुत किया जाता है। मतलब की हम कहे सकते है मि जीडीपी मुख्यता 2 प्रकार की होती है जो इस प्रकार है-

  1. कांस्टेंट प्राइस
  2. करेंट प्राइस

कांस्टेंट प्राइस:

भारत मे हर साल उत्पादन और सेवाओं के लिए एक डेटाबेस बनाया जाता है जिसमे साल में उत्पादन की जाने वाली सभी प्रोडक्ट में जो भी बदलाव होते है। उन सभी को ध्यान में रखकर इसको बनाया जाता है। मतलब की हम कहे सकते है कि हर साल वर्तमान में प्रोडक्ट की कीमत के आधार पर प्रोडक्ट की तुलनात्मक वृद्धि तय की जाती है जिसे हम कांस्टेंट प्राइस जीडीपी कहते है।

करेंट प्राइस:

यहां सिंपल प्रोडक्ट की कांस्टेंट प्राइस जीडीपी को तत्कालीन प्रोडक्ट की महंगाई दर के साथ जोड़ दिया जाता है। जिसे हम करेंट जीडीपी कहते है. 

2019-20 में भारत की GDP कितनी है?

वर्तमान 2019-20 में भारत की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) 5.8% से घटकर 4.9% रहे गयी है। मतलब की पहले के मुताबिक भारत जी जीडीपी में गिरावट आयी है।

जानकारी के मुताबिक भारत की विकास दर में गिरावट आने से निवेश में कमी हुई जिस कारण जीडीपी में गिरावट देखने को मिली।

इसके साथ ही कृषि क्षेत्र अधिक टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल के कारण में मजदूरी दर काफी घटती जा रही है जिस कारण ग्रामीण लोगो में परेशानियां बेरोजगारी की समस्या बढ़ती जा रही है।

भारत की जीडीपी कम होने के यही मुख्य कारण है।

Also Read:

3

No Responses

Write a response