Instruction Cycle in Computer Architecture in Hindi

Instruction Cycle in Computer Architecture in Hindi

Definition of Instruction Cycle in Hindi:- इंस्ट्रक्शन साइकिल या निर्देश चक्र को कंप्यूटर आर्किटेक्चर में fetch–decode–execute cycle के नाम से भी जाना जाता है।  यह किसी कंप्यूटर के द्वारा किए जाने वाला सबसे मौलिक प्रक्रिया है, जिसे central processing unit (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट) अर्थात CPU या प्रोसेसर के द्वारा कंप्यूटर को Start करने से लेकर Shut Down करने तक लगातार दोहराया जाता है। Instruction Cycle वैसे तो मुख्य रूप से सीपीयू द्वारा किसी instruction ( निर्देश ) के निष्पादन की प्रक्रिया है, लेकिन यह कई अलग-अलग चरणों में पूरी होती है।

जब कंप्यूटर को किसी उपयोगकर्ता द्वारा कोई निर्देश दिया जाता है, तो उस कंप्यूटर के CPU या प्रोसेसर के द्वारा इस निर्देश को निष्पादित करके उपयोगकर्ता के समक्ष output प्रदर्शित करने के लिए जिन चरणों का पालन किया जाता है, उसे ही इंस्ट्रक्शन साइकिल कहते हैं।

Steps of Instruction Cycle in Computer Architecture in Hindi :- सभी बुनियादी कंप्यूटर में instruction cycle के दौरान होने वाले चरण निम्नलिखित हैं :-

Fetch the Instruction :- यह instruction cycle का पहला चरण है इसमें मेमोरी के Program Counter ( PC )  में जमा निर्देशों को प्राप्त किया जाता है और उस Instruction Register ( IR )  में संग्रहित किया जाता है ।

Decode the Instruction :- Instruction Register में जमा निर्देशों को Decoder के उपयोग से मशीन की भाषा में अनुवादित किया जाता है और यह समझने की कोशिश की जाती है कि इस निर्देश ( instruction ) का अर्थ क्या है

Read the Effective Address:- अगर instruction में कोई प्रत्यक्ष पता दिया गया है तो उस memory address को पढ़ा जाता है, और वहां से आवश्यक डेटा को प्राप्त किया जाता है और अगर instruction में कोई प्रत्यक्ष पता नहीं दिया गया है तो किसी भी memory address का उपयोग सीधे कर लिया जाता है।

Execute the Instruction:-  इस चरण में instruction का निष्पादन ( instruction ) शुरू हो जाता है।  Control Unit संकेतों के रूप में जानकारियों को CPU की कार्यात्मक इकाई को भेजता है और instruction के अनुसार निर्दिष्ट काम को पूरा किया जाता है।

Read / Write operation:-  निर्देशों के निष्पादन के बाद उसे Output Device जैसे की Moniter, Speaker आदि के द्वारा प्रदर्शित कर दिया जाता है या Memory में संग्रहित करने के लिए भेज दिया जाते हैं।

Interrupts in Instruction Cycle in Hindi

Interrupts in Instruction Cycle in Hindi:- इंस्ट्रक्शन साइकिल में Interrupt ( अवरोध ) इस ऐसी घटना है जिसके कारन CPU कुछ समय के लिये वर्तमान में वर्तमान में निष्पादित कर रहे निर्देश को छोड़कर किसी दूसरे निर्देश को निष्पादित करने लगता है। Interrupt कई आंतरिक या बाहरी कारणों से उत्पन्न हो सकती है जैसे की किसी I/O devices के कारण या किसी Hardware Device में उत्पन्न हुए समस्या के कारण, या फिर ऐसा भी हो सकता है कि CPU जिस निर्देश को निष्पादित कर रहा हो उसी के कारण Interrupt पैदा हुआ हो।

अगर किसी निर्देश के निष्पादन में Interrupts  नहीं आता है तो उसका निष्पादन ऊपर के पांच चरणों में  पूरा हो जाता है, लेकिन अगर निर्देश के निष्पादन में Interrupts  आता है तो उपयुक्त चरणों को फिर से दोहराया जाता है जब तक कि Interrupts  के समस्या को ठीक ना कर लिया जाए।

Registers / Memory Locations Involved In Each Instruction Cycle in Hindi :- इंस्ट्रक्शन साइकिल की प्रक्रिया में शामिल प्रमुख रजिस्टर के नाम एवं उनकी उपयोगिता निम्नलिखित रुप से है :-

  • Memory address registers ( MAR ) :- यह एड्रेस लाइनों से जुड़ा होता है और memory address का पता निर्दिष्ट करता है।
  • Memory Buffer Register ( MBR ) :- यह डेटा लाइनों से जुड़ा होता है और वह value जिसे अंत में output device के द्वारा प्रदर्शित किया जाता है या Memory में जमा किया जाता है वह इसमें होता है।
  • Program Counter ( PC ) :- इसमें उन instruction का पता होता है जिन्हें Input Devices द्वारा प्राप्त किया गया है।
  • Instruction Register ( IR ) :- Program Counter से instruction को प्राप्त करने के बाद उसे Instruction Register में जमा किया जाता है।

Conclusion on Instruction Cycle in Hindi:- कंप्यूटर आर्किटेक्चर में इंस्ट्रक्शन साइकिल कई अलग-अलग चरणों में पूरी की जाने वाली प्रक्रिया है, जो कंप्यूटर के सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट या Microprocessor ( माइक्रोप्रोसेसर ) के द्वारा किसी निर्देश को निष्पादित करने के लिए की जाती है। यह किसी कंप्यूटर द्वारा की जाने वाली सबसे मौलिक प्रक्रिया है, जिसे किसी कंप्यूटर को चालू रखने के लिए करना बहुत आवश्यक है। इसी कारण इस प्रक्रिया को कंप्यूटर start होने से लेकर बंद किये जाने तक लगातार किया जाता है, क्योंकि ऐसा आवश्यक नहीं कि हर बार कंप्यूटर को निर्देश किसी बाहरी उपयोगकर्ता के द्वारा ही प्राप्त हो, कंप्यूटर को विभिन्न प्रकार के आंतरिक निर्देशों का भी निष्पादन करना होता है।

इस लेख में हमने इंस्ट्रक्शन साइकल को सरल हिंदी भाषा में समझाने का प्रयास किया है उम्मीद है कि आपको Instruction Cycle in Hindi का ये लेख पसंद आया होगा। अगर इंस्ट्रक्शन साइकल के इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताइए। जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सकें।

No Responses

Write a response