Internet Advantages and Disadvantages in Hindi

Internet Advantages and Disadvantages in Hindi

इंटरनेट के फायदे और नुकसान क्या है ? | Internet Advantages and Disadvantages in hindi: Hello Readers, आप सबको फिर से आपका आपना ब्लॉग Digitallyseekho.com पर आप सबको स्वागत करता हु.

आज इस Article पे आप सबको Internet के Advantages और Disadvantages के बारे में बताएँगे।

ये आर्टिकल आपके लिए बोहोत ही Important है So आप Last तक इस आर्टिकल को जरूर पढ़े और Share भी कीजिए.

विज्ञान के इस आधुनिक दौर में इंसान का जीवन तेजी से आगे बढ़ रहा है।

लोगों का काम आधुनिक मशीनों के द्वारा आसान हो गया है और इसमें सोने पर सुहागा ‘Internet‘ है।

Internet का इस्तेमाल करके लोग अपनों से कनेक्ट रहते हैं और एक जगह से दूसरी जगह कोई भी कागज, पैसा और सामान भिजवाया जा सकता है।

मगर जिस तरह से विज्ञान की हर चीज के फायदे और नुकसान होते हैं बिल्कुल उसी तरह से इंटरनेट के भी फायदे और नुकसान होते हैं।

इसलिए हम यहां आपको Internet Advantages and Disadvantages in hindi बताने जा रहे हैं।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

इंटरनेट क्या है? | What is Internet in Hindi

ऐसा कहा जाता है कि आज के समय में जिसके पास इंटरनेट और लैपटॉप है उसके हाथ में पूरी दुनिया है।

इंटरनेट विज्ञान का वो वरदान है जिसके द्वारा लोगों का काम और भी सरल हो गया है और इसकी मदद से लोग घर बैठे पैसे कमाने के भी कई तरीके निकाल चुके हैं।

इंटरनेट सूचना तकनीक की सबसे आधुनिक प्रणाली है जिसको अलग-अलग कंप्यूटर नेटवर्कों का एक विश्व स्तरीय समूह होता है।

इस नेटवर्क में हजारों और लाखों कंप्यूटर किसी भी जगह से जुड़े रहते हैं। इंटरनेट किसी एक कंपनी या सरकार के अधीन नही होता है, ये बहुत से सर्वर से जुड़ा होकर अलग-अलग संस्थाओं या प्राइवेट कंपनियों के होते हैं।

कुछ प्रचलित इंटरनेट कंपनी हैं जिनके प्रयोग से जानकारियां प्राप्त होती हैं जिनमें gopher, file transfer protocol, World wide web जैसी कंपनियों के नाम शामिल हैं।

किसी उत्पाद के बारे में विश्वस्र पर जानने के लिए इंटरनेट सबसे अच्छा और सस्ता माध्यम होता है, जिसमें आप जानकारियों के साथ ही कई जरूरी दस्तावेज भी संग्रहित करके रख सकते हैं।

इंटरनेट के माध्यम से पैसे और जरूरी कागजात देश से विदेश पहुंचाए जा सकते हैं। इंटरनेट के बहुत से फायदे होते हैं लेकिन विज्ञान की प्रकृति के अनुसार इसके बहुत नुकसान भी होते हैं।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

इंटरनेट का इतिहास क्या है? | History of Internet in Hindi

साल 1969 में Advance Research project Agency ने Networking Project लॉन्च किया गया था।

इसका इस्तेमाल युद्ध के समय बिना किसी मुश्किलों के गोपनीय सूचना भेजने और संचार व्यवस्था को सुरक्षित रखने के लिए हुआ था।

वहीं कुछ समय बाद इससे मिलने वाले लाभों को देखकर शोधकर्ता, वैज्ञानिक, मिलिट्री और कॉन्ट्रेक्टर्स भी इसका इस्तेमाल करने लगे।

धीरे-धीरे इसकी लोकप्रियता बढ़ती चली गई और आज इस नेटवर्क ने पूरी दुनिया को अपने अधीन कर लिया है। सबसे पहले इंटरनेट की शुरुआत अमेरिका सेना पेंटागन ने रक्षा विभाग के लिए की थी।

इंटरनेट से जुड़ी कुछ जानकारियां इस प्रकार हैं..

1. ‘Vinton Gray Cerf‘ और ‘Bob Kanh‘ नाम के दो व्यक्तियों ने साल 1970 में इंटरनेट की शुरुआत की थी, इसलिए इन्हें इंटरनेट का जनक भी कहते हैं।

2. अमेरिका के रेटॉमलिसंन ने साल 1972 में पहला ईमेल भेजा था।

3. साल 1979 में पहली बार इंटरनेट का इस्तेमाल ब्रिटिश डाकघर में नई प्रौद्योगिकी के रुप में हुआ था, फिर बाद में कंप्यूटर तकनीकी में तेजी से विकास होता गया।

4. साल 1980 में नेशनल साइंस फाउंडेशन ने कुछ हाई स्पीड कंम्यूटरों को जोड़कर एक नेटवर्क (NSFNet) बनाया गया। इसने बाद में इंटरनेट (Internet) की नींव रखी और इसी साल बिल गेट्स की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने भी अपना ऑपरेटिंग सिस्टम आईबीएम के कंप्यूटर पर लगाने का सौदा तय किया था।

5. साल 1984 में इस नेटवर्क से हजार से भी ज्यादा निजी कंप्यूटर जुड़े और धीरे-धीरे इसका तेजी से विकास होने लगा। आज ये दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है।

6. साल 1989 में आम जनता के लिए इंटरनेट खोला गया और इसके इस्तेमाल बड़े स्तर पर लोगों द्वारा कम्यूनिकेशन और रिसर्च के लिए किया गया।

7. साल 1990 में वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) की खोज से इंटरनेट को नई दिशा मिली। इसके बाद इस क्षेत्र में तेजी से विकास होता गया और इंटरनेट धीरे-धीरे दुनिया में फैलने लगा।

8. भारत में इंटरनेट का इस्तेमाल 15 अगस्त, 1955 में विदेश संचार निगम लिमिटेड द्वारा टेलीफोन लाइन के जरिए किया गया। शुरुआत में देश में करीब 20 से 30 कंप्यूटर ही इंटरनेट से जुड़ सकते थे।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

इंटरनेट कैसे काम करता है ? | How to work Internet?

जब दो या इससे अधिक कंप्यूटर सूचनाओं का आदान-प्रदान करने के लिए एक-दूसरे से जुड़ते हैं तो एक जाल बनता है।

जिसे इंटरनेट का नाम दिया गया और हम अपने कंप्यूटर्स में सूचनाओं या दस्तावेजों का आदान-प्रदान आसानी से कर सकते हैं।

जब Computer को एक दूसरे से कनेक्ट किया जाता है तो उस माध्यम को टीसीपी / आईपी प्रोटोकॉल (TCP/IP protocols) यानी Transmission Control Protocol या Internet Protocol कहते है।

कंप्यूटर का उद्देश्य सूचनाओं के आदान प्रदान को सरल बनाता है और इसके जरिये किसी भी तरह की सूचना जैसे दस्तावेज़ (Documents), फोटो (Photos), वीडियों (Video), गाने (Music) और कई दूसरी तरह की सूचनाएं भेजी जा सकती हैं।

हम कंप्यूटर में उपलब्ध एक सॉफ्टवेयर वेबब्राउज़र (Software Browser) के द्वारा ही जानकारियां खोल पाते हैं। इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले IP address के बारे में जानते हैं। इसका पूरा नाम Internet Protocol Address होता है।

आईपी प्रोटोकॉल को ही टीसीपी (TCP) यानी Transmission Control Protocol कहा जाता है। आईपी प्रोटोकॉल के कारण कंप्यूटर या नेटवर्किंग डिवाइस इंटरनेट से कनेक्ट होता है।

हर कंप्यूटर का अपना एक यूनिक (unique) IP address होता है और हर Device)की अपनी एक पहचान होती है।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

इंटरनेट से होने वाले फायदे | Advantage of Internet in Hindi:

इंटरनेट एक ऐसा माध्यम हो गया है जिसके द्वारा लोग घर बैठे लाखों कमाते हैं। बस टैलेंट और जानकारी होनी चाहिए इसके बाद आप बस इंटरनेट के जरिए आदेश दीजिए और सबकुछ आपके हाथों में है।

यहां हम आपको Internet Advantage in Hindi बताएंगे जिसके जरिए लोगों को फायदा मिलता है…

बातचीत | Communication:

इंटरनेट का सबसे बड़ा फायदा ये माना जाता है कि इसके जरिए हम दूर बैठे किसी भी इंसान से वीडियो कॉल के जरिए आमने-सामने बैठकर बात कर सकते हैं।

बिना किसी शुल्क के सिर्फ Internet Data के जरिए Communicate आसानी से कर सकते हैं, इसके अलावा Audia Call भी इसका बड़ा माध्यम बनता है कंम्यूनिकेशन के जरिए लोग अपनों के और भी करीब आ चुके हैं तो ये इंटरनेट की बड़ी उपलब्धि माना जाता है।

मनोरंजन | Entertainment:

एक समय होता था जब एक फिल्म देखने के लिए लोग सिनेमाघरों की तरफ भागते थे और अगर घर पर देखना होता था

तो लंबा समय इंतजार करना होता था। मगर अब इंटरनेट के माध्यम से कुछ ही दिनों में ऑनलाइन देखने की सुविधा है।

इसके अलावा गाने सुनना हो, ऑनलाइन टीवी देखना हो या फिर फिल्म या सीरीज देखनी हो Internet के जरिए ये सबकुछ घर पर ही उपलब्ध हो जाता है।

महत्वपूर्ण जानकारी | Important information:

आज के दौर में इंटरनेट के जरिए कुछ ही समय में रिजल्ट या बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध हो जाती हैं।

किसी को कोई भी Information share करनी है तो Voice, Video, Text messages मिनटों में इधर से उधर पहुंचाया जा सकता है।

इंटरनेट को जानकारी का खजाना कहना गलत नहीं होगा क्योंकि यहां पर आप कोई भी सवाल सर्च करेंगे तो आपको जानकारी उपलब्ध हो जाएगी।

ऑनलाइन पढ़ाई | Online Learning:

आज के समय में हर जगह डिजिटल Class Room बने हैं और इससे छात्र कहीं भी रहकर ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं।

Online Education में इन्टरनेट की सबसे अहम भूमिका है और इसके लिए संस्था websites online certificate भी provide कराते हैं|

शिक्षक अपना पढाया हुआ video भी इंटरनेट पर अपलोड करते हैं जिससे लोग ज्ञान प्राप्त कर सकें।

वह video पूरे वर्ल्ड में access होता है जिसे students access करते हैं और फिर उस video के माध्यम से अपने टॉपिक के बारे में जान पाते हैं|

ऑनलाइन पढ़ाई के साथ ही काफी लोग नौकरी के साथ अपनी पढ़ाई जारी रखते हैं।

ई-कॉमर्स में इंटरनेट | E-Commerce:

E-Commerce का मतलब Electronic Commerce होता है और हम जितनी भी ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं वो सब E-commerce के category में आता है।

सभी business जो कि इंटरनेट के जरिए Transaction of Money, Online Shopping जैसी चीजें कर पाते हैं।

हम जितने भी online काम करते हैं उसमें Online Movie Ticket booking, Online Job, Online Bill paying, Online reservation, Online shopping जैसी चीजें इंटरनेट से ही संभव है।

सोशल नेटवर्किंग | Social Networking:

सोशल नेटवर्किंग के क्षेत्र में इंटरनेट का सबसे बड़ा हाथ है और इसके बिना कोई Whatsapp, Facebook या कोई दूसरी नेटवर्किंग साइट के बारे में कल्पना भी नहीं कर सकता है।

सोशल मीडिया के जरिए लोग काफी ज्ञानी और अफवाही बन गए हैं लेकिन इंटरनेट आज के समय में पढ़े-लिखों के साथ बिना पढ़े लिखों के जीवन में भी खास बन चुका है।

इससे वे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से कनेक्ट रह पाते हैं।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

इंटरनेट के नुकसान | Disadvantages of Internet in Hindi:

अब तक हमने आपको इंटरनेट से जुड़ी बहुत सी अच्छी बातों के बारे में बताया लेकिन जैसा कि हमने शुरु में कहा था कि विज्ञान के दो अच्छे और बुरे पहलू हैं तो इसके फायदे के साथ ही कुछ नुकसान भी हैं।

यहां हम आपको इंटरनेट के कुछ नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं..

1. इंटरनेट पर लोग ज्यादा से ज्यादा समय बिताकर बहुत सारा समय बर्बाद करते हैं। वे अपना ज्यादा समय व्हाट्सएप और फेसबुक जैसे सोशल प्लेटफॉर्म पर बिताते हैं और अपने कामों को भूल जाते हैं।

2. इंटरनेट पर ज्यादा समय बिताने से जरूरी डाटा भी फोन से हैक हो जाता है। इसके अलावा इसमें समय के साथ ही पैसों की बर्बादी भी होती है इसलिए लोगों को सावधान रहना चाहिए।

3. हम सभी जानते हैं कि इंटरनेट का कनेक्शन फ्री में नहीं मिलता लेकिन सोशल नेटवर्किंग का चस्का ऐसा होता है कि लोग कहीं से भी इंटरनेट रिचार्ज करवाते हैं। इसके लिए हमें कंपनियों को महंगा शुल्क भी देना होता है।

4. इंटरनेट के माध्यम से कंप्यूटर में कुछ ऐसे वायरस आ जाते हैं जिससे कंप्यूटर या मोबाइल को नुकसान पहुंच सकता है। वायरस हमारे जरूरी प्रोग्राम को भी डिलीट कर देता है या वो क्रैश भी हो सकता है।

5. इंटरनेट के जरिए कुछ कंपनियां हमारे पर्सनल डाटा जैसे ई-मेल, अकाउंट नंबर या जरूरी चीजें चुरा सकते हैं। कुछ पैसों का लाभ मेल भेजकर लोगों ठगने का काम भी करते हैं।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Also Read: What is DBMS in Hindi (Full Guide)

Also Read: Digital India in Hindi (Full Guide)

Also Read: What is OSI Model in Hindi (Full Guide)

Also Read: Computer Full Form In Hindi(Full Guide)

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Conclusion:

दोस्तों आज के हमारे इस आर्टिकल पे बस इतना ही था. I Hope आप सबको हमारे आज के आर्टिकल internet advantages and disadvantages in hindi से बोहोत कुस सेखने को मिला।

दोस्तों इंटरनेट के अडवेंटागेस और डिसादवंतागेस बारे में सभी लोगो को जानना बोहोत ही जरुरी है.

सो आप आपने दोस्तों और हर Social Media पे Share करना ना भूले। ताकि सभी लोगो लो Internet के सही जानकारी मिले।

तो आज के लिए बस इतना ही था फिर मिलेंगे ,धन्यबाद ||

2

No Responses

Write a response