MIME Protocol in Hindi

What is MIME Protocol in Hindi

Definition of MIME Protocol in Hindi:- माइम का पूरा अर्थ Multipurpose Internet Mail Extensions ( मल्टीपर्पस इंटरनेट मेल एक्सटेंशन ) है | इसका उपयोग Internet email protocol जैसे की Simple Mail Transfer Protocol ( SMTP ) की क्षमताओं का विस्तार करने के लिए किया जाता है। MIME के उपयोग से उपयोगकर्ता ई-मेल में विभिन्न प्रकार के डिजिटल समाग्री जैसे कि images, audio, video तथा विभिन्न प्रकार के डॉक्यूमेंट एवं फाइलों को भेज पाते है।

माइम एक Extensions (एक्सटेंशन) प्रोटोकॉल है, अर्थात यह स्वतंत्र रूप से काम नहीं करता बल्कि SMTP जैसे किसी दूसरे प्रोटोकॉल के साथ मिलकर उनकी क्षमताओं का विस्तार करने में मदद करता है। चूँकि माइम एक सीमित आकार के अंग्रेजी भाषा में लिखे गए टेक्स्ट को ही इंटरनेट की मदद से हस्तांतरित करवाने में सक्षम था। इसीलिए इसकी क्षमताओं का विस्तार करने के उद्देश्य से मल्टीपर्पस इंटरनेट मेल एक्सटेंशन प्रोटोकॉल की नींव रखी गई थी। वर्तमान समय में लगभग सभी ईमेल संबंधित सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों जैसे की Gmail, Yahoo-mail, Hotmail द्वारा इसका उपयोग किया जाता है।

Multipurpose Internet Mail Extension को सबसे पहले Nathan Borenstein (नाथन बोरेंस्टीन) नाम के कंप्यूटर वैज्ञानिक द्वारा Bell Communications नाम की कंपनी में 1991 में बनाया गया था।

Need of MIME Protocol in Hindi

Need of MIME Protocol in Computer Network in Hindi :- कंप्यूटर नेटवर्क में ईमेल ट्रांसफर करने के लिए माइम प्रोटोकॉल का उपयोग निम्नलिखित कारणों से किया जाता है :-

  • साधारण Internet email protocol जैसे की SMTP के उपयोग से images, audio, और video को Email में नहीं भेजा जा सकता है, इनके लिए Multipurpose Internet Mail Extensions की आवश्यकता होती है।
  • SMTP के उपयोग से केवल English भाषा में लिखे test को ही ईमेल में भेज सकते है। हिंदी, फ्रेंच, जापानी, चीनी आदि जैसे भाषाओं को ईमेल में भेजने के लिए MIME की आवश्यकता होती है।
  • साधारण प्रोटोकॉल एक निश्चित आकार से अधिक वाले मेल को अस्वीकार कर सकती हैं, लेकिन MIME में शब्दो की कोई सीमा नहीं है।
  • कई बार ईमेल को HTML और CSS जैसे कोड के उपयोग से डिज़ाइन किया जाता है, इनका उपयोग मुख्य रूप से कंपनियों द्वारा अपने उत्पाद की marketing के लिए किया जाता है। इस प्रकार के कोड HTML और CSS से बनाये गए email को भेजने के लिए MIME का उपयोग किया जाता है।

Mime Header in Hindi

Multipurpose Internet Mail Extensions साधारण ईमेल प्रोटोकॉल की गुणों का विस्तार करने के लिए वास्तविक e-mail के header वाले भाग में पांच अतिरिक्त fields को जोड़ता है। ये फ़ील्ड निम्नलिखित रूप से हैं:-

  • MIME Version :- यह MIME प्रोटोकॉल के संस्करण को परिभाषित करता है। वर्तमान समय में उपयोग किया जाने वाला संस्करण 1 है। इसका उपयोग यह दर्शाता है की ईमेल में MIME के द्वारा विषेस गुणों को जोड़ा गया है।
  • Content Type :- इसमें message में भेजे जाने वाले जानकारियों के प्रकार और उपप्रकार का वर्णन होता है। इन मैसेज के कई प्रकार के हो सकते है जैसे की Text, Image, Audio, Video और इनके कई उपप्रकार भी होते है जैसे की image का उपप्रकार png या jpeg हो सकता है, वैसे ही Video का उपप्रकार WEBM, MP4 आदि हो सकता है।
  • Content Type Encoding :- इसमें यह बताया जाता है की mail के जानकारियों को ASCII में या Binary number में बदलने के लिए किस विधि का उपयोग किया गया है।
  • Content-Id :- सभी ईमेल मैसेज के साथ एक unique Content Id नंबर को जोड़ा जाता है ताकि इनको विशिष्ट रूप से पहचाना जा सके।
  • Content description :- इस भाग में Email के भीतर की समाग्री का एक छोटा लेकिन स्पष्ट वर्णन होता है। मतलब की मेल में Text, Image, Audio, Video जो कुछ भी भेजा जा रहा है उसके विषय में स्पष्ट जानकारी Content description में होती है।

Advantage of MIME in Hindi :-  माइम प्रोटोकॉल का उपयोग कंप्यूटर नेटवर्क में करने पर निम्नलिखित लाभ मिलते हैं:-

  • यह मैसेज में अलग-अलग प्रकार के फाइलों जैसे की टेक्स्ट, ऑडियो, वीडियो फाइल को भेजने के सक्षम बनाता है।
  • माइम प्रोटोकॉल ईमेल को अलग-अलग प्रकार की भाषा जैसे की Hindi, French, Japanese, Chinese आदि में भी भेजने एवं प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करता है।
  • यह ईमेल के साथ HTML जैसे मार्कअप लैंग्वेज तथा CSS जैसे स्टाइलिंग सीट को भी जोड़ने की सुविधा प्रदान करता है, जिसके कारण लोग ईमेल को अपनी आवश्यकता के अनुसार डिजाइन करके आकर्षक एवं खूबसूरत बना सकते हैं।
  • Email में मौजूद जानकारियों की लंबाई कितनी भी अधिक हो उसे भेजने के सक्षम बनाता है।
  • यह सभी email को एक unique id प्रदान करता है जिनसे बहुत सरे ईमेल के बीच उन्हें पहचाने में सहता मिलती है।

Conclusion on MIME Protocol in Computer Network in Hindi:- सामान्य ईमेल प्रोटोकॉल ASCII text अर्थात अंग्रेजी भाषा में लिखे गए अक्षरों को ही एक सीमित आकार में ईमेल की मदद से हस्तांतरित करने में सक्षम होते हैं। इसलिए 1991 में इसकी क्षमताओं का विस्तार करते हुए MIME प्रोटोकॉल की नींव रखी गई। जो कि ईमेल में विभिन्न भाषाओं के असीमित आकार के टेक्स्ट को हस्तांतरित करने के साथ-साथ ऑडियो, वीडियो, इमेज तथा डॉक्यूमेंट फाइलों को भी हस्तांतरित करने की सुविधा देता है। चूँकि माइम प्रोटोकॉल आधुनिक ईमेल की प्राथमिकता बन चुकी है, इसलिए लगभग सभी ईमेल की सेवा प्रदान करने वाले कंपनियों द्वारा आजकल इसका उपयोग किया जाने लगा है।

इस लेख में हमने माइम को सरल हिंदी भाषा में समझाने का प्रयास किया है। उम्मीद है कि आपको MIME Protocol in Hindi का यह लेख पसंद आया होगा। अगर आप इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सकें।

 

No Responses

Write a response