Mutual Funds in Hindi: म्यूच्यूअल फण्ड क्या है और म्यूच्यूअल फण्ड पे निवेश कैसे करे?

Mutual Funds in Hindi: म्यूच्यूअल फण्ड क्या है और म्यूच्यूअल फण्ड पे निवेश कैसे करे?

Mutual Funds in Hindi(म्यूच्यूअल फण्ड क्या है और म्यूच्यूअल फण्ड पे निवेश कैसे करे?): Hello Friends, आज हम आपके लिए एक बोहोत ही Interesting Topic  लेके आये है.

क्या आपने कभी म्यूच्यूअल फंड्स( Mutual Funds) के बारे में सुना है?

क्या आपको पता है मुटुअल फंड्(Mutual Funds) क्या है? अगर आप अपने पैसे को Invest करते हो या कर रहे हो तो आपने कभी ना कभी तो Mutual Funds के बारे में तो सुना ही होगा।

हलाकि देखा जाये तो TV पर भी बोहोत सारे Ads सालती रहते है की म्यूच्यूअल फंड्स (Mutual Funds) पे इन्वेस्ट करो और ज्यादा Returns पाओ.

अगर आप जानते हो तो कोई बात नहीं आज हम आपको Detail में इसके बारे में बताएँगे।

अगर कोई मेरे पास आता है और कहता है, मुझे अपना पैसा दो और मैं इसे 2 साल में दोगुना कर दूंगा।’तो आप क्या करेंगे ,मैं बस उस व्यक्ति पर दरवाजा बंद कर देता दूंगा।

क्योंकि अगर सच तो बोहोत ही अत्छा होता , हम सभी अमीर और बदबूदार होते । हर दिन अखबार में कहीं न कहीं कुछ वित्तीय धोखाधड़ी हो रही है।

तो मैं अपने पैसे को देकर किसी पर कैसे भरोसा कर सकता हूं? अगर हम अमीर बनना चाहते हैं तो हमें Smartly Invest करने की आवश्यकता है।

क्योंकि लड़कियां, बहुत बेहतर वित्तीय निर्णय लेने में सक्षम हैं. यदि आपके पास आज Mutual Funds के बारे में कोई Knowledge नहीं है 

तो इस आर्टिकल को आप लास्ट तक जरूर पढ़े ,इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप आर्थिक रूप से 10 गुना अधिक Smart होंगे।

क्योंकि आज मैं आपको बताऊंगा

  • म्यूचुअल फंड और विभिन्न प्रकार क्या हैं?
  • सबसे अच्छा म्यूचुअल फंड कैसे चुनें?
  • अपना म्यूचुअल फंड अकाउंट कैसे खोलें?

मैं आपको सिर्फ सही जानकारी दूंगा। जैसे मैं अपनी दोस्तों को निवेश के बारे में शिक्षित करता हूं।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Mutual Fund क्या है? (Mutual Funds in Hindi)

आज के ज़माने में सबसे अत्छा Investment Option है Mutual FundsMutual Funds हम जैसे लोगों से पैसा इकट्ठा करता है।ये मुझसे 500 रु,आप से 500 लेके और एक पैसा पूल बनाता है।एक Fund Manager फिर इस पूल यानि हमारे पैसे को उपयोग Stock, Bonds, परिसंपत्तियों (Assets) में निवेश करने के लिए करता है।

हमें इस बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है कि यह कहाँ निवेश किया जा रहा है, क्योंकि Fund Manager इसका ध्यान रखता है 1% से 2% के कमीशन के लिए।

अगर आप Long Term निवेश करना चाहते हैं तो Mutual Funds(Wiki) एक बढ़िया विकल्प है क्योंकि बेकार बैंक पे परे रहने की  बजाय, आपका पैसा आपके लिए और पैसा बनाएगा.

लेकिन मैं यह कैसे सुनिश्चित कर सकता हूं कि Mutual Funds मेरे पैसे Invest कर रहा है की नहीं? इसका कोई सिंटा नहीं है 

Mutual Funds सेबी यानि Security and Exchange Board Of India(SEBI) द्वारा विनियमित होते हैं।

इसलिए आपका पैसा इसमें 100% Secure रहता है. हालांकि, अगर आपने खराब Fund Manager चुना है, तब वह बुरे शेयरों (Bad Stock) में निवेश करके आपके पैसे खो सकता है।

मैं आपको बताता हूं कि ऐसा क्या करना है जो ऐसा नहीं होता है। सबसे पहले, आइए विभिन्न प्रकार के Mutual Funds के बारे में जानें।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Also Read: What is Stock Market in Hindi (Full Guide)

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Mutual Funds के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

Mutual Funds के 3 प्रमुख प्रकार हैं।

1. इक्विटी फंड (Equity Funds):

ये Mutual Funds Stock, Company के शेयरों में निवेश करते हैं। उन्हें High Risk माना जाता है, लेकिन वे High Return भी देते हैं।

2. डेट फंड (Debt Funds):

ये Mutual Funds डिबेंचर, सरकारी बांड डेट इंस्ट्रूमेंट्स जैसे पे निवेश करते हैं

वे सुरक्षित निवेश हैं, लेकिन उनका Return भी काफी कम है।

3. हाइब्रिड फंड (Hybrid Funds):

जैसा कि नाम से पता चलता है, वे एक संकर हैं। वे इक्विटी और डेट दोनों में निवेश करते हैं। 50% -50% या 70% -30% हो सकता है।

उनका उद्देश्य आपको मध्यम जोखिम पर मध्यम Return देना है।

फिर सेक्टर फंड्स, गिल्ट फंड्स, टैक्स सेविंग फंड्स जैसे बोहोत सरे फंड्स Available है.

जो समझने में बहुत आसान हैं, लेकिन अभी के लिए, आइए मूल बातों से चिपके रहें।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

सर्वश्रेष्ठ म्युचुअल फंड कैसे चुनें? (How to Pick the Best Mutual Funds):

मुझे लगता है कि हम Mutual Funds में इसलिए Invest नहीं करते हैं, क्योंकि Market में बहुत सारे हैं.

हम नहीं जानते कि कौन सा चुनना है! तो इससे पहले कि आप Mutual Funds पे Invest करे आप  इन 5 बातो को जरूर याद रखें।

NO 1: यदि आप Short Term के लिए Invest करना साहते है कहते हैं Like 1 साल या 2 साल का Investment करना चाहते हैं.

फिर तो आप कभी भी Equity Funds पे Investment ना करे.

आप Choose करे Debt Funds को,  क्योंकि वे Equity Funds से कम जोखिम वाले होते हैं.

साथ ही वे बैंक से ज्यादा Return देते हैं।

NO 2: अगर आप Long Term में Investment करना चाहते हैं, तो आपके पास 2 विकल्प हैं.

a) Lump-Sum और

b) SIP (Systematic Investment Plan)

Lump-Sum वह है जब आप एक बड़ी रकम देते हैं यानि ज्यादा Investment करते है , जैसे की आप एक साथ जब 1 लाख रुपए  Investment करते हो तब इसको Choose करना है .

और उसके बाद आता है SIP (Systematic Investment Plan). जहाँ आप 1000 Rs या 2000 Rs हर महीने Invest  कर सकते हो.

वह राशि सीधे आपके Saving Account से आपके Mutual Funds Accounts में चली जाएगी।

अगर आप Mutual Funds में नए हैं, तो SIP (Systematic Investment Plan) सबसे Best Option है।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

कौन सा म्यूचुअल फंड चुनें? (Which Mutual Funds to Pick):

उन्हें 3 Types में Categories किया जाएगा।

  • लार्ज-कैप (Large Cap)
  • मिड-कैप (Mid Cap) और
  • स्मॉल-कैप (Small Cap)

1.लार्ज-कैप (Large Cap):

Large Cap Scheme बड़ी कंपनियों में Investment करती हैं जो पहले से ही अच्छी तरह से स्थापित हैं। इसलिए Large Cap में जोखिम(Risk) कम है।

2,मिड-कैप (Mid Cap):

Mid Cap Scheme पे Low Risk के साथ आती हैं, लेकिन मध्यम रिटर्न मिलता है।

3.स्मॉल-कैप (Small Cap);

और Small Cap Scheme, छोटी Companies में भी Investment करते है. इसलिए वे High Risk के साथ आते हैं लेकिन Return भी अधिक मिलता है।

यदि आप Mutual Funds में नए हैं, तो मैं आपको Suggest करूँगा की आप एक ऐसा Mutual Funds चुनें, जो Large Cap Scheme में आता है।

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Also Read: What is Share Market in Hindi (Full Guide)

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Mutual Funds का Select करने से पहले, ये पैरामीटर Check करे?

निचे दिए गए Parameters को जरूर जाँच करनी चाहिए।

a) रिटर्न (Returns): अतीत में कितना Mutual Funds बनाया गया है।

कम से कम 10 साल उनके ट्रैक रिकॉर्ड की जाँच करें।

b) व्यय अनुपात (Expense Ratio) : वह निधि प्रबंधक आपके खाते को बनाए रखने के लिए आपसे कितना शुल्क लेगा।

यह आमतौर पर 1% से 3% के बीच होता है।

c) प्रवेश और निकास भार (Entry and Exit Load): उस Scheme में Join करने और बाहर निकलने के लिए शुल्क (Fees) को जरूर चेक करे।

‘इंडेक्स फंड्स’ (Index Funds):

दोस्तों Index Funds नाम के भी एक Fund होता है.

Index Funds में, आपको कोई फंड मैनेजर की आवश्यकता नहीं है, इसलिए Index Funds में व्यय अनुपात( Expense Ratio) बहुत कम है।

एक निवेश सलाहकार हैं, जिन्हें वरुण मल्होत्रा ​​कहा जाता है और वह दृढ़ता से सुझाव देता है कि यदि आप नए हैं, तो आप सिर्फ NIFTY50 और सेंसेक्स इंडेक्स फंड (Sensex index fund) से ही खरीदें.

और व्यक्तिगत रूप से, यह वही है जिसमें मैंने खुद investment किया है।

तो ये बाटे आपको Mutual Funds चुनने से पहले ध्यान रखनी चाहिए।

सलिये अब हम जान लेते है की Mutual Funds का खता कैसे खोले.

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

म्यूचुअल फंड खाता कैसे खोलें?(How to Open a Mutual Fund Account?)

1. उस म्यूचुअल फंड का चयन करें जिसे आप चुनना चाहते हैं उन 5 चीजों के आधार पर जिन पर हमने अभी ऊपर चर्चा की है।

2. यह पता लगाएं कि आपको कितने पैसे का Investment करना है.  अपने वित्तीय लक्ष्य को पूरा करने के लिए हर महीने एसआईपी करें।

उसके लिए, हम एक SIP Calculator का उपयोग करेंगे।

Visit: www.sbimf.com

मान लीजिए कि अगले 15 वर्षों में, आप 1 करोड़ रुपए बनाना चाहते हैं। किसी भी Mutual Funds के लिए Returns की औसत प्रत्याशित दर लगभग 16% है।

गणना पर Click करें। इसलिए आपको हर महीने लगभग 13K Investment करने की आवश्यकता है. अगले 15 वर्षों के लिए, 1 करोड़ रुपए बनाने के लिए।

mutual funds meaning in hindi

mutual funds meaning in hindi

तुम भी रिटर्न वैल्यू कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं।

इस कैलकुलेटर में, हम पहले दर्ज करेंगे कि आप हर महीने कितना पैसा निवेश कर सकते हैं। मान लेते हैं कि यह 2000 / –

आइए यह भी मान लें कि आप इसे अगले 10 वर्षों के लिए investment करेंगे। जैसा कि हम जानते हैं, म्यूचुअल फंड के लिए रिटर्न की औसत उम्मीद दर 16% है।

गणना पर क्लिक करें।

what is mutual funds in hindi

what is mutual funds in hindi

इसका मतलब है, कि जब आप Rs 2,40,000 / -लगाएंगे  आपका अपेक्षित संचित धन लगभग  होगा 6 लाख।

और अगर आप रुपये का निवेश करते हैं तो यह होगा। अगले 10 वर्षों के लिए 2000 / -।

मैंने वर्णन में इन कैलकुलेटरों के लिंक को छोड़ दिया है।

म्युचुअल फंड अकाउंट शुरू करने के लिए आपको जिस तीसरी चीज की जरूरत है, वह है Pan Card जो KYC कंप्लेंट है।

और अंत में, इन 3 चीजों को करने के बाद, आप या तो उस Mutual Funds के शाखा कार्यालय में जा सकते हैं

या आप उनकी Website पर जा सकते हैं। आपको बस अपना विवरण, अपनी एसआईपी राशि, अवधि दर्ज करनी होगी

और आपका खाता सेट हो जाएगा!

और बस। यह सब एक Mutual Fund खाता Open करने के लिए होता है।

देखें, अब मैंने आपको Mutual Funds में Investment शुरू करने के लिए आवश्यक सभी जानकारी दी है।

अब आपका आप मुझे बताये की आप:

a) आप हर महीने अपने SIP में कितना पैसा Invest कर सकते हैं?

b) आपके लिए कौन सा Mutual Fund सबसे अच्छा है?

और हमेशा याद रखें, Mutual Funds investment की बात करें तो एक ऐसा Investment Option है ,जिसमें 0% Risk और 100% Returns शामिल है.

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Mutual Fund Apps For Direct Investment:

1.Groww- Mutual Funds App:

[appbox googleplay screenshot com.nextbillion.groww&hl=en_IN]

2.ETMONEY: Save ₹46,800 in tax via ELSS Mutual Funds:

[appbox googleplay screenshot com.smartspends&hl=en_IN]

3.Zerodha Coin:

[appbox googleplay screenshot com.zerodha.coin&hl=en_IN]

4.KFinKart- Investor Mutual Funds:

[appbox googleplay id=com.karvy&hl=en_IN]

5.myCAMS Mutual Fund App:

[appbox googleplay id=com.KCamsApp&hl=en_IN]

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Also Read:

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

[su_divider top=”no” divider_color=”#163890″]

Conclusion:

दोस्तों आज के इस Article पे बस इतना ही था. I hope आप सबको जानकारी मिल गए होंगे की म्यूच्यूअल फंड् क्या है और आप कैसे म्यूच्यूअल फण्ड पे invest कर सकते है?

दोस्तों अगर आपने इससे पहले कभी भी म्यूच्यूअल; फंड्स पे Investment नहीं किया है, तो मेरा सालाह ये रहेगा की आप हमारे आर्टिकल को पढ़के और समाज के Investment करना सुरु करे.

अगर आपको इस Mutual Funds in Hindi आर्टिकल को पढ़के अत्छा लगा तो आपने दोस्तों के साथ Share करना न भूले। धन्यबाद.

3

One Response

  1. shilpa sharma
    June 26, 2020

Write a response