pseudo code in hindi

What is Pseudo Code in Hindi

Definition of Pseudo Code in Hindi :- कंप्यूटर प्रोग्रामिंग और एल्गोरिथम में सूडो-कोड का उपयोग किसी प्रोग्राम के लॉजिक को लिखने के लिए किया जाता है अर्थात Pseudocode की मदद से साधारण अँग्रेजी भाषा में यह लिखा जाता है की प्रोग्राम के Source Code को किस प्रकार से लिखा जायेगा। स्यूडोकोड किसी भी Programming Languages पर निर्भर नहीं होता है अर्थात  स्‍यूडो कोड में लिखे गए निर्देशों को सॉफ्टवेयर इंजीनियर या डेवलपर अपने जरुरत के अनुसार किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में परिवर्तित कर सकता है।

स्यूडोकोड में if, else, print, input, output जैसे शब्दो का भी उपयोग होता है जिसके कारण इसके उपयोग से प्रोग्राम कोड को लिखना की प्रक्रिया काफी जल्दी और आसानी से पूरी हो जाती है। किसी भी समस्य के लिए Pseudo code लिखने की प्रक्रिया को Algorithm और flowchart बनाने के बाद किया जाता है, अर्थात हम एल्गोरिथ्म और फ़्लोचार्ट को स्यूडोकोड का मुख़्य आधार भी कह सकते है क्योंकि स्यूडोकोड को बनाने के लिए एल्गोरिथ्म और फ़्लोचार्ट में लिखे गए निर्देशों का ही उपयोग होता है।

how to write pseudocode in hindi

How to Write Pseudocode in Hindi

ऐसा नहीं है कि प्रत्येक प्रोग्राम के Code को लिखने से पहले उससे संबंधित स्यूडोकोड भी लिखना compulsory (अनिवार्य) है, लेकिन किसी बहुत बड़े जटिल प्रॉब्लम को solve करने के लिए स्यूडोकोड बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए इसका उपयोग आमतौर पर Business प्रोजेक्ट से सम्बंदि सॉफ्टवेयर के निर्माण में किया जाता है जहां समस्या बहुत ही जटिल और बड़ी होती है।

Features of pseudo code in Hindi

Features of pseudo code in Hindi:- स्यूडोकोड की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित रूप से है :-

  • स्यूडोकोड को साधारण अंग्रेजी भाषा में लिखा जाता है जिससे कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर अपनी आवश्यकता के अनुसार किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में परिवर्तित कर सकता है।
  • स्यूडोकोड को स्ट्रक्चर्ड इंग्लिश में इस प्रकार से लिखा जाता है कि उसके मदद से सॉफ्टवेयर प्रोग्राम के सोर्स कोड को काफी तेजी से लिखा जा सकता है।
  • यह किसी कंप्यूटर प्रोग्राम के सोर्स कोड के logic के संबंध में बताता है जोकि सॉफ्टवेयर डेवलपर के लिए बहुत अधिक महत्वपूर्ण होता है।
  • स्यूडोकोड को एल्गोरिथम बनाने से बाद बनाया जाता है, इसलिए इसे एल्गोरिथम को इसका मुख्य आधार भी कहते है।

Advantages and Disadvantages of pseudo code in Hindi

Advantages of pseudo code in Hindi:- स्यूडो कोड के प्रमुख लाभ निम्नलिखित रूप से है :-

  • स्यूडोकोड को सरल अंग्रेजी भाषा में लिखा जाता है जिसे कोई भी कंप्यूटर प्रोग्रामर आसानी से समझ सकता है, जिन्हें सॉफ्टर निर्माण से संबंधित विषयों का ज्यादा ज्ञान ना हो या सॉफ्टवेयर डेवलपर भी स्यूडो कोड को आसानी से समझ सकते है।
  • इसे compile और execute करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है, यह साधारण पेपर या डॉक्यूमेंट में भी लिखा जा सकता है।
  • यह सॉफ्टवेयर प्रोगामर के काम को आसान कर देता है क्योंकि इसमें कोड लिखने से संबंधित समस्त लॉजिक का पहले से ही वर्णन होता है।
  • फ़्लोचार्ट और एल्गोरिथम से प्रोग्राम कोड लिखने की तुलना में pseudocode से प्रोग्राम कोड लिखना ज्यादा आसान है।
  • स्यूडो कोड के निर्माण में किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के syntax का उपयोग नहीं होता जिसके कारण यह पूरी तरह से स्वतंत्र होता है और कोई भी कंप्यूटर प्रोग्रामर अपनी आवश्यकता के अनुसार इसका उपयोग कर के कंप्यूटर प्रोग्राम का निर्माण कर सकता है।
  • यह सॉफ्टवेयर इंजीनियर को यह सुविधा प्रदान करता है कि उन्हें बार-बार मुख्य समस्या पर ध्यान केंद्रित ना करना पड़े क्योंकि मुख्य समस्या में लिखे गए सभी जानकारियों को समझने के बाद ही स्यूडो कोड का निर्माण किया जाता है, इसलिए जब सॉफ्टवेयर इंजीनियर प्रोग्राम कोड लिख रहा होता है तो वह केवल एल्गोरिथ्म, स्यूडो कोड और फ्लोचार्ट का ही उपयोग से के ही उपयोग करता है।
  • इसका उपयोग करने से सॉफ्टवेयर इंजीनियर के काम की गति काफी बढ़ जाती है, क्योंकि इसमें code लिखने से सम्बंधित निर्देशों का विस्तृत वर्णन होता है।
  • इसे लिखने के लिए किसी भी विशेष संसाधन या टूल की आवश्यकता नहीं है सामान्य टेक्स्ट फाइल में इसे लिखा जा सकता है।

Disadvantages of pseudocode in Hindi:-

  • इसे लिखने में अतिरिक्त समय और पैसे खर्च करने पड़ते हैं।
  • इसे लिखने का कोई भी स्टैंडर्ड पद्धति नहीं होने के कारण इसमें गलती होने की संभावना बनी रहती है।
  • किसी भी नए कंप्यूटर प्रोग्रामर के लिए एल्गोरिदम या फ्लोचार्ट लिखने की तुलना में Pseudo-code लिखना अधिक जटिल होता है क्योंकि किसी प्रोग्राम के लॉजिक लिखने की प्रक्रिया को कोड लिखने की प्रक्रिया से भी अधिक जटिल माना जाता है।
  • स्यूडोकोड में मौजूद गलतियों को जांचने के लिए कोई भी टूल उपलब्ध नहीं है जिसके कारण अगर इसमें मौजूद गलतियों को अगर Manually वेरीफाई न किया गया तो इसके कारन प्रोग्राम कोड में भी गलती हो सकता है।

How to write pseudo code in Hindi:- किसी भी कंप्यूटर प्रोग्रामर के लिए pseudocode लिखना बहुत ही आसान है। इसके लिए उसे एल्गोरिदम में लिखे गए निर्देशों को स्ट्रक्चर्ड तरीके से लिख देना होता है। इसका एक उदाहरण निम्नलिखित रुप से है:-

Example of pseudocode in Hindi:- दो संख्या A और B को जोड़ने के लिए लिखे गए स्यूडोकोड कुछ इस प्रकार से होगा

Declare Number1, Number2, Sum As Variables
Output: “Enter the first number”
Set Number1 = user answer
Ask user: “Enter the second number:”
Set Number2 = user answer
Set Sum = Number1 + Number2
Output: “The sum is:”
Output: Sum

 

Conclusion on Pseudocode in Hindi:- कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में स्यूडोकोड के उपयोग का बहुत अधिक महत्त्व है, यह सॉफ्टवेयर बनाने की प्रक्रिया में कंप्यूटर प्रोग्रामर की बहुत अधिक मदद करता हैं।   किसी भी प्रोग्रामिंग भाषा के syntax के बारे में चिंता किए बिना pseudocode किसी समस्य के समाधान से सम्बंधित विचारों को साधारण इंग्लिश भाषा में लिखने की सुबिधा देता है। चूंकि स्यूडोकोड में कोई विशिष्ट वाक्यविन्यास नहीं है, इसलिए इसे पढ़ना और लिखना आसान है और कोई भी प्रोग्रामर या software engineer आराम से स्यूडोकोड में लिखे गए निर्देशों कस उपयोग कर के सॉफ्टवेयर निर्माण कर सकता है।

इस लेख में हमने Pseudocode को सरल हिंदी भाषा में समझाने का प्रयास किया है, उम्मीद है कि Pseudocode in Hindi पर लिखा गया यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप स्यूडो कोड  के इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सके।

1

No Responses

Write a response