rad model in hindi

What is RAD Model in Hindi

Definition of RAD Model in Software Engineering in Hindi :- RAD मॉडल का पूरा नाम Rapid Application Development ( रैपिड एप्लीकेशन डेवलपमेंट ) है। इसको पहली बार IBM कंपनी द्वारा 1980 में प्रस्तावित किया गया था।

RAD सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट की एक कार्यप्रणाली है, इसके उपयोग से बहुत कम समय में सॉफ्टवेयर उत्पाद को विकसित किया जाता है।किसी सॉफ्टवेयर परियोजना को RAD model के उपयोग से तभी बनाया जा सकता है अगर उस प्रोजेक्ट को कई छोटे – छोटे मॉड्यूल में तोड़ा जा सकता है और इन प्रत्येक मॉड्यूल को अलग-अलग software engineer या सॉफ्टवेयर डेवलपर की अलग-अलग टीमों के बीच स्वतंत्र रूप से सौंपा जा सके ।

Software Development Life Cycle (सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट लाइफ साइकिल) या SDLC में किसी सॉफ्टवेयर को विकसित करने के लिए कई अलग-अलग models उपलब्ध है, जैसे की Waterfall Model (वाटरफॉल मॉडल), Iterative Model (इटरेटिव मॉडल), Spiral Model (स्पाइरल मॉडल), Rapid Application Development Model ( रैपिड एप्लीकेशन डेवलपमेंट मॉडल) आदि। RAD भी SDLC के अंतर्गत आने वाला एक Software Development Model है। आप सॉफ्टवेयर के विकास की प्रक्रिया को और बेहतर तरीके से समझने के लिए SDLC के अन्य मॉडल्स के विषय में अवश्य पढ़ें।

Different Phases of RAD Model in Software Engineering in Hindi:- रैपिड एप्लीकेशन डेवलपमेंट मॉडल में निम्नलिखित चरण होते है:-

  • Business modeling:- इस चरण में विभिन्न व्यावसायिक कार्यों के बीच होने वाले सूचना प्रवाह की पहचान की जाती है।
  • Data modeling:- इस चरण में Business modeling से प्राप्त होने वाले जानकारियों का उपयोग करके उन डेटा ऑब्जेक्ट को परिभाषित करने के लिए किया जाता है, जो व्यवसाय के लिए आवश्यक हैं।
  • Process modeling:- data object जो data modeling phase में परिभाषित किये गए थे , उन्हें व्यावसायिक कार्य में लागु करने के लिए सूचना प्रवाह के रूप में बदल दिया जाता है।
  • Application generation:- इस चरण में प्रोसेस मॉडल को कोड और वास्तविक सिस्टम में बदलने के लिए स्वचालित टूल का उपयोग किया जाता है।
  • Testing and turnover:- इस चरण में  सभी नए घटकों और interfaces का परीक्षण किया जाता है।

Advantages and Disadvantages of RAD Model in Hindi

Advantages of RAD Model in Hindi:-

  • RAD Model में reusable components का उपयोग किया जाता है जिससे  project समय को कम करने में मदद करता है।
  • project निर्माण के प्रारंभिक चरणों ग्राहक से प्रतिक्रिया लिया जाता है इससे ग्राहक के जरुरतें अच्छी तरह से समझने में मदद मिलता है।
  • कम लागत में project का निर्माण हो जाता है।
  • तुलनात्मक रूप से कम डेवलपर्स की आवश्यकता होती है।
  • समय के साथ बदलती आवश्यकताओं को समायोजित करना आसान है।
  • इसमें गलती होने की संभाबना बहुत कम होती है।

Disadvantages of RAD Model in Hindi:-

  • इसमें शक्तिशाली और कुशल उपकरणों का उपयोग किया जाता है इसलिए प्रोजेक्ट निर्माण में अत्यधिक कुशल पेशेवरों की आवश्यकता होती है, जिनका मिलना कई बार मुश्किल हो जाता है।
  • Project के निर्माण में ग्राहक की भागीदारी की आवश्यक है, अगर ग्राहक अच्छे से सहयता न करे तो प्रोजेक्ट का निर्माण मुश्किल हो जाता है।
  • छोटे परियोजनाओं के लिए यह विल्कुल भी उपयोगी नहीं है क्योंकि स्वचालित उपकरण और तकनीकों का उपयोग करने की लागत परियोजना के पूरे बजट से अधिक हो सकती है ।

When to use RAD Model in Hindi:- किसी software के निर्माण में RAD Method का उपयोग कब करना चाहिए :-

  • जब system को बहुत कम समय (2-3 महीने) में बनाकर तैयार करने की आवश्यकता होती है।
  • जब customer या user सॉफ्टवेयर निर्माण के चक्र में शामिल होने के लिए उपलब्ध हो।
  • जब Project में technical risk बहुत कम हो।
  • जब कोड लिखने के लिए अनुभवी software developer की कमी न हो।
  • रैपिड एप्लीकेशन डेवलपमेंट के लिए प्रोजेक्ट का बजट बड़ा होना चाहिये।

Conclusion on RAD Model in Software Engineering in Hindi :- RAD एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट मॉडल है जिसमें सॉफ्टवेयर विकसित करने के लक्ष्य को जल्दी से जल्दी कम समय में पूरा करने के लिए प्रोजेक्ट को कई अलग-अलग भागों में बांटकर अलग-अलग टीम के सदस्यों के बीच बाँट दिया जाता है और एक साथ काम को प्रारंभ कर दिया जाता है।

इस तरीके से सॉफ्टवेयर विकसित करने के लिए एक बहुत बड़े सॉफ्टवेयर इंजीनियर के टीम की आवश्यकता होती है, साथ ही इसमें प्रोजेक्ट का बजट भी अधिक होना चाहिए। लेकिन इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें प्रोजेक्ट बहुत जल्दी तैयार हो जाता है, इसलिए इस मॉडल का चुनाव तभी किया जाता है जब किसी उत्पाद को जल्दी से जल्दी बनाकर तैयार करना होता है और बजट की कोई कमी ना हो।

उम्मीद है कि RAD Model in Hindi का यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सके।

3

No Responses

Write a response