RTE Act क्या है? RTE Full Form in Hindi (Full Guide)

RTE Act क्या है? RTE Full Form in Hindi (Full Guide)

RTE Act क्या है? (RTE Full Form in Hindi):-  जैसा की आप जानते है कि शिक्षा देश के हर नागरिक का अधिकार होता है और शिक्षा हर बच्चे के लिए ज़रुरी होती है क्योंकि बिना शिक्षा जे किसी भी घर या फिर देश का विकास नही हो सकता है।

किसी भी देश को विकसित होने के लिए शिक्षा सबसे महत्वपूर्ण ताकत होती है। जिस भी देश में जितने भी नागरिक पढ़े लिखे होंगे वो देश उतनी ही अधिक तरक्की करेगा।

अब देखा जाये तो सही मायनों में किसी भी देश की अर्थव्यवस्था की सबसे बड़ी ताकत शिक्षा ही होती है। इस लिए सन 2009 में भारत सरकार द्वारा एक एक्ट लागु (Full form of RTE) किया गया जिसके तहत सभी बच्चों को प्राथमिक शिक्षा देना ज़रुरी कर दिया गया।

और इस अधिनियम के अनुसार सभी 6 वर्ष से 14 वर्ष तक के बच्चों को मुफ्त में अपनी शिक्षा लेने का क़ानूनी अधिकार दिया गया।

हमारे देश भारत में अभी भी शिक्षा का स्तर काफी कम है और सरकार देश के इस पढ़ाई के स्टार को बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयत्न कर रही है।

लेकिन आज भी देश के कुछ हिस्सों में बच्चों को उनकी प्रारंभिक शिक्षा नही मिल पाती है और कई बच्चों के माता पिता ही बच्चों को स्कूल नही भेजते है।

इस लिए इन सभी समस्याओं को देखते हुए भारत सरकार की तरफ से इस एक्ट को पुरे देश में लहू किया गया जिससे देश में शिक्षा का स्तर को सुधारा जा सके।

और ऐसे सभी बच्चों को उनकी प्रारंभिक शिक्षा को दिलाया जा सके ताकि बच्चे पढ़कर अपने और अपने देश के लिए कुछ कर सके।

इस आर्टिकल में आपको RTE एक्ट से संबंधित सभी जानकरी दी जाएगी। अगर आप ये सभी
जानकारी लेना चाहते है तो आपको इस आर्टिकल को अंत तक ज़रुर पढ़ना चाहिए।

Full form of RTE in English (RTE का फुल फॉर्म):

[su_note]दोस्तों RTE का फुल फॉर्म “Right To Education” है।[/su_note]

इसको “Right of Children to free and compulsory Education Act” के नाम से भी जाना जाता है। ये एक्ट भारत के सभी बच्चों को उनका शिक्षा का अधिकार देता है।

Full form of RTE in Hindi (RTE ka full form):

अगर आप RTE का हिंदी में full form जानना चाहते है तो आपको बता दू कि:

[su_note]RTE का हिंदी में full form “शिक्षा का अधिकार” होता है।[/su_note]

इसके अलावा इसको निशुल्क एवम अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के नाम से जाना भी जाता है।

RTE एक्ट क्या है? (What is RTE)

full form of rte

full form of rte

RTE एक्ट देश मे बच्चों को शिक्षा का अधिकार देने के लिए लागू किया गया था इस एक्ट के लागू होने से देश के सभी 6 वर्ष से 14 वर्ष तक के बच्चों को मुफ्त में अपनी शिक्षा लेने का क़ानूनी अधिकार दिया गया।

इस एक्ट से जिससे उनकी प्रारंभिक शिक्षा को निशुल्क कर दिया गया। इस एक्ट के लागू होने से देश के सभी बच्चों को मूल अधिकार मिल गया इस अधिकार से बच्चों को फ्री शिक्षा दी जाएगी।

इससे देश में शिक्षा का स्तर बढ़ेगा और साथ ही इससे लोगो में शिक्षा के लिए जागरूक होगें और अपने बच्चों को प्राथमिक शिक्षा दिलायेगे।

आपकी जानकरी के लिए बता दे कि इस एक्ट को लागू करने के बाद भारत विश्व के उन 135 देशों की सूची में शामिल हो गया जहाँ बच्चों को उनकी प्राथमिक शिक्षा मुफ्त दी जाती है।

RTE कब लागू किया गया?

भारत में बच्चों की शिक्षा को अनिवार्य करने के लिए 4 अगस्त 2009 को पारित करने के लिए संसद में पारित किया गया और इसके बाद 1 अप्रैल 2010 से प्रभावी रूप से लागू कर दिया गया।

RTE के कुछ मुख्य पॉइंट्स:

अगर आप ये जानना चाहते है कि RTE के लागू होने से कौन कौन से नये नियम बने है जिनके तहत बच्चों को शिक्षा प्रदान की जाएगी।

[su_box title=”List:” box_color=”#23d12b”]

  • इस Right to education के नियम के अनुसार सभी 6 वर्ष से 14 वर्ष तक के सभी बच्चों को प्राथमिक विद्यालय में मुफ्त शिक्षा दी जाएगी।
  •  इस एक्ट के लागू होने के बाद सभी प्राइवेट स्कूलों में 6 वर्ष से 14 वर्ष तक के बच्चों में से 25% बच्चों को निशुल्क शिक्षा प्रदान करनी होगी ऐसा नही करने पर प्राइवेट स्कूलों पर जुर्माना लगाने का प्रावधान है इसके अलावा उनकी स्कूल की मान्यता भी रद्द की जा सकती है।
  • इस Right to education एक्ट के अनुसार फ्री शिक्षा दिलाने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी।
  •  इस एक्ट के अनुसार ऐसे स्कूल जो बच्चे के एडमिशन के समय माता-पिता के साक्षात्कार लेते है सरकार ने इस नियम को बदलने के लिए कहा है। अगर कोई स्कूल ऐसा करता है तो उस स्कूल पर जुर्माना लगाने का नियम भी तय किया गया है।
  •  इस Right to education के अधिनियम के अनुसार ऐसे बच्चे जो विकलांग है उनके लिए फ्री शिक्षा के लिए 6 वर्ष से 18 वर्ष तक की उम्र तय की गई है।
  •  ऐसे सभी स्कूल जिनकी मान्यता रद्द हो चुकी है और वो स्कूल संचालित करे है तो ऐसे स्कूलों पर 1 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जायेगा या फिर रोज़ाना दस हजार रुपये तक का जुर्माना लगाया जायेगा।
  •  इस Right to education के अधिनियम के अनुसार शिक्षक ट्यूशन नही पढ़ा सकते है।
  • इस RTE act के अनुसार कोई भी बच्चा जिसका किसी स्कूल में एडमिशन नही  है तो ऐसा बच्चा किसी भी स्कूल में अपनी आयु वर्ग के अनुसार एडमिशन ले सकता है।
  •  इस RTE act के अनुसार बच्चों पर होने वाले सभी शारीरिक और मानसिक उत्पीडन को रोका जा सकेगा।

[/su_box]



Conclusion:

दोस्तों आज के बस इतना ही था.I Hope आप सबको RTE क्या है और rte full form बारे में पूरी जानकारी मिल गए होंगे। अगर आपको कोई भी और जानकारी सहिये तो हमे जरूर बताये। दोस्तों अगर आर्टिकल अत्छा लगा तो आप आपने दोस्तों के साथ Share करना ना भूले।धन्यवाद।।

[su_table responsive=”yes”]

BCA Full Form

HR full form

RSVP Full Form

IRCTC Full Form

CCC Full Form

Computer Full Form

SSC Full Form

RTI Full Form

SSLC Full Form

TRP Full Form

CO Full Form

B.Ed Full Form

UPS Full Form

GDP Full Form

FMCG Full Form

ICT Full Form

[/su_table]

3

No Responses

Write a response