software project management in hindi

Software Project Management in Hindi

Definition of Software project management in Hindi:- सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट को संक्षेप में SPM भी कहा जाता है। यह किसी सॉफ्टवेयर परियोजना के निर्माण की योजना बनाने से लेकर समय-निर्धारण, संसाधन आवंटन, निष्पादन, ट्रैकिंग और वितरण के लिए समर्पित करने तक के सम्पूर्ण प्रक्रिया को संदर्भित करता है।

अगर साधारण शब्दों में कहे तो सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट के अंतर्गत यह योजना बनाई जाती है की किसी विशिष्ट सॉफ्टवेयर उत्पाद को किस प्रकार से बनाकर तैयार किया जाएगा। Software Engineering में प्रॉजेक्ट मेनेजमेंट की प्रक्रिया काफी जटिल है क्योंकि Software development का काम अलग-अलग चरणों में बाँटा होता है, जिसे कई अलग-अलग तरीके से किया जा सकता है।

सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट के कार्य को जिस व्यक्ति के द्वारा किया जाता है उसे Project Manager कहा जाता है। प्रोजेक्ट मैनेजर के द्वारा ही पूरे सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट को बनाने की योजना तैयार की जाती है।

Need of Software Project Management in Hindi :- सभी Software एक गैर-भौतिक ( non-physical ) उत्पाद है, और इन्हे ग्राहक की आवश्यकताओं के अनुसार बनाए जाते हैं। Software Industry में उपयोग होने वाली टेक्नोलॉजी इतनी बार और इतनी तेजी से बदलती है, कि एक उत्पाद के अनुभव को दूसरे पर लागू नहीं किया जा सकता है। Software का व्यवसाय जोखिमो से भरा हुआ है। इसलिए सॉफ्टवेयर परियोजनाओं को कुशलता से प्रबंधित करना आवश्यक है। सॉफ्टवेयर निर्माता के लिए यह आवश्यक है कि वह ग्राहक के बजट को देखते हुए projects का निर्धारण करे और गुणवत्तापूर्ण उत्पाद प्रदान करे। संक्षेप में कहें तो सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट की तीन मुख्य आवश्यकताएं निम्नलिखित रुप से है:-

  1. Time :- Software development के काम को ग्राहक की आवश्यकताओं के अनुसार निश्चित समय के अंदर पूरा करना।
  2. Cost :- ग्राहक के बजट के अंदर उत्पाद को तैयार करना।
  3. Quality :- एक उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद को बनाना जो ग्राहक की जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हो।

सॉफ्टवेयर निर्माता के लिए यह आवश्यक की वह Time, Cost और Quality इन तीनों जरूरतों को पूरा करने के लिए उचित योजना तैयार करें। जिससे कि बिना किसी समस्या के उत्पाद का निर्माण किया जा सके।

Type of Software Project Management in Hindi

सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट के कुछ प्रमुख प्रकार निम्नलिखित रुप से हैं :-

  • Conflict Management ( संघर्ष प्रबंधन ):- Conflict Management के ज़रिए किसी project के निर्माण में आने वाले सकारात्मक संघर्ष को बढ़ाया जाता है और साथ में नकारात्मक संघर्ष को प्रतिबंधितकिया जाता है । Conflict Management का मुख्य लक्ष्य एक साथ काम कर रहे टीम के सदस्यों के बिच उत्पान होने वाले आपसी मतभेद को दूर कर के समूहिक  परिणामों में सुधार करना है।
  • Risk Management ( जोखिम प्रबंधन ):- इसमें उन घटनाओ का विश्लेषण और पहचान किया है, जो दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं की संभावना या प्रभाव को नियंत्रित करने या कम करने में सहायक होती है ।
  • Requirement Management ( आवश्यकता प्रबंधन ):- इसमें मुख्य रूप से उन आवश्यकताओं पर विश्लेषण किया जाता है जिनका उपयोग किसी Project के निर्माण में होती है, इसके आलावा उन मुख्य प्राथमिकता का भी विश्लेषण इसमें किया जाता है जिनका उपयोग Project में होने वाला है। यह पुरे project के दौरान सतत चलने वाली प्रक्रिया है।
  • Change Management ( परिवर्तन प्रबंधन ):- यह किसी सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट में संगठन के लक्ष्यों, प्रक्रियाओं, तथा उपयोग किए जाने वाले technologies में बदलाव से निपटने के लिए एक व्यवस्थित दृष्टिकोण होता है। इसका मुख्य उद्देश्य मनुष्यों को इंडस्ट्री में समय के साथ आने वाले बदलाव के अनुसार तैयार करना होता है।
  • Software Configuration Management ( सॉफ्टवेयर विन्यास प्रबंधन ) :- सॉफ़्टवेयर कॉन्फ़िगरेशन प्रबंधन में समय के साथ सॉफ्टवेयर के सोर्स कोड में किए जाने वाले परिवर्तनों को प्रबंधित किया जाता है।
  • Release Management में नए software project को संगठन मौजूदा सेवाओं की अखंडता की रक्षा करते हुए, किस प्रकार से लागु करना है इसका प्रबंधन किया जाता है।

Advantages of Software Project Management in Hindi:-

  • यह सॉफ्टवेयर विकास की योजना को पूरा करने में मदद करता है।
  • इसके उपयोग से सॉफ्टवेयर विकास के काम को आसानी से पूरा किया जाता है।
  • किसी सॉफ्टवेयर परियोजना के सभी अंगों पर यह नियंत्रण रखता है तथा ग्राहक की आवश्यकता के अनुसार श्रेष्ठ उत्पाद बनाने में सहायक होता है।
  • मुख्य रूप से यह कम से कम समय और धन के निवेश से सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट को पूरा करने में सहायक होता है।

Software Project Management Tools in Hindi:-सॉफ्टवेयर विकास की परियोजना में उपयोग किए जाने वाले कुछ प्रमुख tools निम्नलिखित रुप से हैं

  • Gantt Chart :- गैंट चार्ट्स को हेनरी गैंट द्वारा 1917 में विकसित किए गया था । इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के प्रोजेक्ट में Bar Chart बनाने के लिए किया जाता है। सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट में इसके उपयोग से प्रोजेक्ट के लिए निर्धारित गतिविधियों और इन गतिविधियों को पूरा करने में लगने वाले समय को बार चार्ट में दर्शाया जाता है।
  • PERT Chart:- इसे United States के नौसेना के लिए 1957 में बनाया गया था। इसके मदद से एक के बाद एक घटित होने वाले इवेंट्स को network diagram की मदद से दर्शाया जा सकता है। यहां एक गतिविधि के बाद घटित होने वाले दूसरे गतिविधि को समानांतर रेखाओं की मदद से जोड़ता है।
  • Resource Histogram:- यह एक ग्राफिकल टूल है जिसका उपयोग प्रोजेक्ट के किसी एक भाग के काम को पूरा करने में लगने वाला समय एवं उस काम के लिए आवश्यक संसाधनों को चार्ट की मदद से दर्शाने के लिए किया जाता है। आम तौर पर इसका उपयोग किसी काम को पूरा करने के लिए कितने कर्मचारी एवं समय अवधि की आवश्यकता हो सकती है, इसे दर्शाने के लिए किया जाता है।

Conclusion on Software Project Management in Hindi:- software engineering में प्रोजेक्ट मैनेजमेंट का उपयोग किसी सॉफ्टवेयर उत्पाद को विकसित करने के लिए उपयोग किए जाने वाले सभी आवश्यक चरणों की योजना तैयार करने के लिए किया जाता है। इसके उपयोग से किसी प्रोजेक्ट के planning, design, monitoring, scheduling, execution, resource allocation, tracking जैसे सभी चरणों से सम्बंधित योजना बनाई जाती है। हालांकि सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट का कार्य बहुत ही जटिल है क्योंकि सॉफ्टवेयर निर्माण का कार्य कई अलग-अलग चरणों से होकर गुजरता है जिन का पूर्वानुमान करना काफी कठिन होता है। कई बार तो ग्राहक की आवश्यकताएं भी एक निश्चित समय के बाद परिवर्तित हो जाती है जिससे कि मुख्य सॉफ्टवेयर में नए update करने पड़ते हैं इसलिए पहले से ही सॉफ्टवेयर के लिए प्रोजेक्ट मैनेजमेंट करना काफी कठिन माना जाता है।

उम्मीद है कि Software Project Management in Hindi का यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप प्रोजेक्ट मैनेजमेंट से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सके।

3

No Responses

Write a response