Spyware in Hindi

Spyware in Hindi

What Is Spyware in Hindi:- स्पाइवेयर एक विशेष प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है जिसे किसी संगठन या व्यक्ति से संबंधित जानकारियों को चुराने के लिए बनाया जाता है। इसे Cyber Criminal ( साइबर क्रिमिनल्स ), Hackers ( हैकर ), या अपराधी प्रवृत्ति के लोगों द्वारा बनाया एवं संचालित किया जाता है।

यह किसी कंप्यूटर सिस्टम पर उसके संचालक के जानकारी के बिना गुप्त रूप से नियंत्रण करता है एवं उस सिस्टम से संबंधित सभी व्यक्तिगत गोपनीय जानकारियों को चुराता है। कई बार ऐसा भी देखा गया है कि कुछ सरकारी संगठन जैसे कि पुलिस विभाग द्वारा भी इस प्रकार के सॉफ्टवेयर का उपयोग नागरिकों की जासूसी अपराध को रोकने के उद्देश्य से किया जाता है।

Definition of Spyware in Hindi:-  स्पाइवेयर शब्द अंग्रेजी भाषा के दो शब्द spies (जासूस) और software (सॉफ्टवेयर) को मिलाकर बना है। इसका पूरा अर्थ होता है Spies Software अर्थात जासूसी करने वाला सॉफ्टवेयर।

स्पाइवेयर किसी कंप्यूटर के Web browser से सर्च हिस्ट्री, ईमेल मैसेज, विभिन्न सोशल मीडिया अकाउंट के यूजर नेम और पासवर्ड, बैंक से संबंधित क्रेडिट कार्ड की जानकारियां आदि को चुरा कर अपने नियंत्रक अर्थात अपराधियों तक पहुंचाता है।  आधुनिक स्पाइवेयर किसी कंप्यूटर पर की जाने वाली सभी प्रकार के गतिविधियों की निगरानी करने में सक्षम होता है।

Type of Spyware in Hindi

Type of Spyware in Hindi :- स्पाइवेयर के द्वारा किए जाने वाले कार्य के आधार पर इसके कई अलग-अलग प्रकार हो सकते हैं। इसके कुछ प्रमुख रूप निम्नलिखित रुप से है :-

spyware in hindi

Spyware in Hindi

  • Adware (एडवेयर):- यह स्पाइवेयर का सबसे प्रचलित रूप है, हालांकि आमतौर पर एडवेयर किसी व्यक्ति को सीधे तौर पर नुकसान नहीं पहुंचाता यह केवल विज्ञापन के जरिए पैसे कमाने का एक तरीका है। लेकिन कुछ एडवेयर काफी भ्रमित करने वाला होता है और लोगों को गलत प्रकार के सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित करता है। इसके अलावा अगर कोई एडवेयर किसी के ब्राउज़र पर बार-बार एक advertisement प्रदर्शित करे तो इससे उस व्यक्ति के साधारण कार्य प्रणाली में काफी बाधा उत्पन्न हो सकती है।
  • Pornware (पोर्नवेयर):- इस प्रकार का स्पाइवेयर लोगों के कंप्यूटर या मोबाइल में अश्लील विज्ञापन प्रदर्शित करता है। आमतौर पर पोर्नवेयर भी एक प्रकार का विज्ञापन ही प्रदर्शित करता है, जो लोगों को कोई उत्पाद या शुल्क-आधारित अश्लील वेबसाइटों और सेवा बेचना चाहती है।
  • Riskware (रिस्कवेयर):- रिस्कवेयर किसी स्पाइवेयर का सबसे ख़तरनाक रूप होता है। यह कंप्यूटर की जासूसी कर सकता है तथा किसी भी हिस्से से data को चुरा सकता है। उदाहरण के लिए किसी मोबाइल से रिस्कवेयर contact details से सभी फ़ोन नंबर चुरा सकता है या मैसेज इनबॉक्स से सभी मैसेज को चुरा सकता है। यह गुप्त रूप से काम करने वाला प्रोग्राम होता है तथा इसी उपयोगकर्ता द्वारा की जाने वाली सभी गतिविधियों की निगरानी करने में सक्षम होता है |
  • Keyloggers (कीलॉगर):- कीलॉगर कंप्यूटर के Keyboard (कीबोर्ड) से टाइप किए गए अक्षरों को रिकॉर्ड करके कंप्यूटर की जासूसी करता है। साधारण शब्दों में कहें तो कोई उपयोगकर्ता कीबोर्ड से जो कुछ भी लिखता है कीलॉगर जैसे spyware उसकी निगरानी करता है।

Similarity between a computer virus and spyware in Hindi?

  • यह दोनों ही एक प्रकार का सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम होता है, अर्थात इन्हें किसी ना किसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के उपयोग से code लिखकर बनाया जाता है।
  • यह दोनों ही जिस उपकरण तक पहुंच जाते हैं चाहे वह कंप्यूटर, मोबाइल या लैपटॉप हो उसे नुकसान पहुंचाते हैं।
  • इन दोनों को ही आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों अर्थात Cyber Criminal या Hackers द्वारा बनाया , फैलाया और नियंत्रित किया जाता है।

 

Difference between a computer virus and spyware in Hindi?

  • एक वायरस बिना किसी बाहरी मदद के ही अपना डुप्लीकेट कॉपी बनाने में सक्षम होता है, जबकि एक spyware आमतौर पर अपना डुप्लीकेट कॉपी नहीं बनाता।
  • वायरस बहुत तेजी से फैलता है क्योंकि यह जितने भी उपकरण के संपर्क में आता है, उन सब को प्रभावित कर देता है। उदाहरण के लिए अगर किसी कंप्यूटर में वायरस है और उस कंप्यूटर में कोई पेनड्राइव लगाया जाए तो उस पेनड्राइव में भी वायरस आ जाएगा। लेकिन स्पाइवेयर के साथ ऐसा नहीं होता, यह अन्य उपकरणों को प्रभावित नहीं करता।

How Spyware Infect your computer or mobile :- स्पाइवेयर कंप्यूटर सिस्टम या मोबाइल उपकरण तक निम्नलिखित तरीके से पहुंच सकता है :-

spyware virus in hindi

Spyware Virus in hindi

  • जब आप किसी Unauthorised website or Untrusted website (अनधिकृत वेबसाइट या अविश्वसनीय वेबसाइट) से कोई डॉक्यूमेंट जैसे की PDF या कोई ऑडियो, वीडियो, इमेज, Film या Song आदि डाउनलोड करते हैं, तो इस बात की बहुत अधिक संभावना रहती है कि इन सामग्रियों के साथ कोई स्पाइवेयर आपके कंप्यूटर या मोबाइल उपकरण तक पहुंच जाए।
  • जब आप अपने कंप्यूटर के साथ किसी बाहरी मेमोरी उपकरण जैसे की पेन ड्राइव या External Hard Disk को जोड़ते हैं तो उन उपकरणों में मौजूद स्पाइवेयर आपके कंप्यूटर तक पहुंच सकता है।
  • जब आप किसी भ्रमित करने वाला विज्ञापन या pop-up पर क्लिक करके हैं तो वह विज्ञापन आपके कंप्यूटर में स्पाइवेयर कोई स्पाइवेयर से संक्रमित कर सकता है। अधिकांश तौर पर भ्रमित करने वाला विज्ञापन adult websites या चोरी से फिल्म डाउनलोड करने वाले वेबसाइटों पर होती है।
  • गैरकानूनी वेबसाइट और टॉरेंट वेबसाइट पर पाए जाने वाले pirated software या game में virus और spyware के पाए जाने की संभावना होती है। लोग लालच में आकर मुफ्त में चीजों को डाउनलोड करने की चक्कर में इन्हें download कर लेते है।
  • दुनिया में हर रोज करोड़ों की संख्या में Spam Emails भेजे जाते हैं इन स्पैम ईमेल्स में मौजूद attachments file या लिंक पर क्लिक करने से हमारे कंप्यूटर में वायरस और स्पाइवेयर आ सकते है।
  • कई बार cyber criminal और hacker सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और group के उपयोग से भी स्पाइवेयर से संक्रमित फाइलों को फैलाते हैं, जिससे कि हमारे उपकरण तक स्पाइवेयर पहुंच सकता है।

How to recognize spyware on your device:- हम निम्नलिखित तरीकों का उपयोग करके यह पता कर सकते हैं कि हमारा उपकरण स्पाइवेयर से संक्रमित है या नहीं:-

  • अगर आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर के स्क्रीन पर एक निश्चित अवधि के बाद एक Pop-Up आता है, जो आपके कंप्यूटर को restart करने के लिए कहता है या कोई सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम डाउनलोड करने को कहता है या Pop-Up कोई उत्पादित सामग्री से संबंधित विज्ञापन प्रदर्शित करता है तो यह सब इस बात के संकेत है कि आपके कंप्यूटर के लिए स्पाइवेयर से संक्रमित है।
  • अगर आपका उपकरण बहुत अधिक धीमा है और अचानक क्रैश या हैंग या shout down हो जाता है तो इस बात की संभावना है कि आपका उपकरण स्पायवेयर से ग्रसित है।

[Note:- कोई उपकरण स्पाइवेयर से संक्रमित है या नहीं इसका पता लगाना बहुत कठिन है क्योंकि स्पायवेयर किसी दूसरे के सॉफ्टवेयर के साथ जुड़कर छिप जाता है इसलिए इन्हें पहचाना काफी मुश्किल हो जाता है।]

How can you prevent Spyware in Hindi:- स्पायवेयर को रोकने के उपाय निम्नलिखित रूप से है:-

  • Anti-spyware programs or Antivirus:- एंटी स्पाइवेयर प्रोग्राम एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है जो मुख्य रूप से तीन प्रकार के काम करता है :-
    1. कंप्यूटर में install सभी software एवं हार्ड डिस्क में जमा सभी data को scan करता है और अगर उसमें कोई स्पाइवेयर जा हानिकारक प्रोग्राम मिले तो उसे डिलीट करता है।
    2. जब हम कंप्यूटर में किसी नए removable मेमोरी उपकरण जैसे की Pen drive आदि को कंप्यूटर के साथ जोड़ते हैं, तो एंटी स्पाइवेयर प्रोग्राम उसे भी स्कैन करता है और अगर उसमें कोई स्पाइवेयर हो तो उसे डिलीट कर देता है।
    3. जब हम इंटरनेट से किसी नए सॉफ्टवेयर या अन्य सामग्री ऑडियो, वीडियो आदि को डाउनलोड करते हैं तो उसे डाउनलोड होने से पहले एंटी -स्पाइवेयर प्रोग्राम स्कैन करके जाँच करता है। जिससे की कोई स्पाइवेयर कंप्यूटर में download न हो सके।[Note:- वर्तमान समय में आधुनिक Antivirus भी Anti-spyware का काम करता है और आधुनिक Antivirus स्पाइवेयर से कंप्यूटर की सुरक्षा करने में समर्थवान होता है।]
  • Security Practices:- कंप्यूटर या मोबाइल उपकरण के स्पायवेयर से संक्रमित होने का सबसे मुख्य कारण है कि लोग जागरूकता के अभाव या फिर लालच में आकर ऐसी सामग्री को अपने कंप्यूटर में डाउनलोड कर लेते हैं जिसमें स्पाइवेयर के होने की संभावना रहती है। लोगों को अपने कंप्यूटर को सुरक्षित रखने के लिए निम्नलिखित नियमों का पालन करना चाहिए:-
    1. किसी भी उत्पाद को हमेशा उसके निर्माता के आधिकारिक वेबसाइट से ही डाउनलोड करें और खरीदें। कभी भी किसी असुरक्षित, टॉरेंट वेबसाइट या फ्री में pirated – software देने वाले वेबसाइटों से उत्पाद को अपने कंप्यूटर में डाउनलोड ना करें।
    1. किसी अनजान व्यक्ति द्वारा भेजे गए ईमेल में मौजूद सामग्री को डाउनलोड ना करें और ना ही उस email में मौजूद किसी लिंक पर क्लिक करें।
    2. भ्रमित करने वाले विज्ञापनों पर क्लिक ना करें उदाहरण के लिए जल्दी पैसा कमाए, घर बैठे पैसा कमाए, लॉटरी इत्यादि अक्सर ही लोगों को साथ ठगी करते हैं या उनके कंप्यूटर और अन्य उपकरणों को वायरस और स्पाइवेयर से संक्रमित कर देते हैं।

Conclusion on Spyware in Hindi :- आज के इस आधुनिक युग में मनुष्य अपने रोजमर्रा के कामों के लिए मशीनों पर निर्भर हो गया है। हम Computer और Mobile जैसे उपकरणों के बिना अपने महत्वपूर्ण कामों को पूरा नहीं कर सकते। लेकिन इस तकनीक आधारित जीवन में स्पाइवेयर और वायरस जैसे समस्या भी है। इन समस्याओं से अपने निजी जानकारियों एवं financial information (फाइनेंसियल इंफॉर्मेशन) को सुरक्षित के लिए आवश्यक नियमों का पालन करना बहुत आवश्यक है।

उम्मीद है की स्पाइवेयर इन हिंदी का यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट में लिखकर हमें जरूर बताएं जिससे कि हम इस लेख को और अधिक उपयोगी बना सके।

 

2

No Responses

Write a response