स्वच्छ भारत अभियान क्या है? Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान क्या है? Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान क्या है? Swachh Bharat Abhiyan in Hindi: साफ-सफाई इंसान के लिए कितना जरूरी है ये हम सबको Coronavirus के दौरान पता चल रहा है।

सफाई हमारे जीवन में एक खास महत्व रखती है जिसे साल 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान PM Narendra Modi ने swachh bharat abhiyan के रूप में प्रमोट किया।

स्वच्छता ना सिर्फ हमारे घर और सड़क तक ही जरूरी नहीं बल्कि ये देश और राष्ट्र के लिए भी उतना ही जरूरी है।

यहां हम आपको Swachh Bharat Abhiyan in Hindi के बारे में बताने जा रहे हैं जो हर भारतीय के लिए बहुत जरूरी है।

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य क्या है? | Purpose of Swachh Bharat Abhiyan in Hindi:

2 अक्टूबर, 2014 को गांधी जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी। Swachh Bharat Abhiyan को भारत मिशन और स्वच्छता अभियान भी कहते हैं।

Mahatma Gandhi की जयंती के अवसप नरेंद्र मोदी ने 145वें जयंती पर इस अभियान की शुरुआत करते हुए उन्होंने राजपथ पर जनसमूहों को संबोधित किया था।

इस दौरान उन्होंने हर देशवासियों से इस अभियान में जुड़ने का अनुरोध किया था।

साफ-सफाई को लेकर भारत की छवि बदलने के लिए PM Modi ने देश को एक मुहीम से जोड़ने के लिए जन आंदोलन बनाकर इसका आरंभ किया।

what is swachh bharat abhiyan in hindi के बारे में कुछ बातें इस प्रकार से हैं..

[su_box title=”List:” box_color=”#69f42c” radius=”4″]

  1. खुले में शौच बंद करना, जिसके अंतर्गत हर साल हजारों बच्चों की मौत होती है।
  2. लगभग 11 करोड़ 11 लाख व्यक्तिगत सामूहिक शौचालयों का निर्माण करवाना जिससे 1 लाख 34 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का लक्ष्य रखा गया।
  3. लोगों की मानसिकता को बदलना उचित स्वच्छता का उपयोग किया गया।
  4. शौचालयों के उपयोग को बढ़ावा देना और सार्वजनिक जागरुकता को शुरु करना।
  5. भारत के हर गांवों को साफ रखना।
  6. साल 2019 तक सभी घरों में पानी की पूर्ति सुनिश्चित करके गावों में पाइपलाइन लगवाना।
  7. ग्राम पंचायत के माध्यम से ठोस और तरल अपशिष्ट की बेहतरीन प्रबंधन की व्यवस्था कराना।
  8. सड़कें, फुटपाथ और बस्तियां साफ रखना।
  9. साफ सफाई से सभी स्वच्छता के प्रति जागरुक रहें।
  10. साफ-सफाई होने के बाद भारतवर्ष और भी खूबसूरत लगे।

[/su_box]

महात्मा गांधी का सपना | Dream of Mahatma Gandhi:

भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Father of Nation Mahatma Gandhi) दुनियाभर में पूजनीय हैं।

महात्मा गांधी हमेशा स्वच्छता की बात करते थे और उनका भी एक सपना था भारत आजादी के बाद दुनिया में सबसे स्वच्छ और खूबसूरत नजर आए।

इसके तहत वे सभी नागरिकों को एक साथ मिलकर देश को साफ रखने के बारे में सोचते थे, और हर दिन सुबह 4 बजे उठकर खुद आश्रम की सफाई करते थे।

उन्होंने वर्धा आश्रम में अपना स्वयं का शौचालय बनवाया था और प्रतिदिन सुबह-शाम सफाई भी करते थे।

गांधी जी की यही स्वच्छ भारत की मुहीम को श्री नरेंद्र मोदी ने Swachh Bharat Abhiyan के तहत आगे बढ़ाने के लिए प्रत्येक भारतवासी को प्रेरित करती है।

Also Read: Women Empowerment in Hindi (Full Essay)

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत | How Swachh Bharat Abhiyan started in Hindi:

भारत का प्रधानमंत्री बनने के बाद Shri Narendra Modi ने गांधी जयंती के अवसर पर इस अभियान की शुरुआत की।

भारत को स्वच्छ करके परिवर्तन के उद्देश्य से ये मुहीम चलाई, और भारत को साफ-सुथरा देखना महात्मा गांधी का सपना था।

स्वस्छ भारत के माध्यम से खासकर ग्रामीण तबके के लोगों में जागरुकता पैदा करना है कि शौचालयों का प्रयोग अधिक करें, खुले में बिल्कुल नहीं जाएं।

इससे तमाम बीमारियां पनपती हैं जो किसी भी प्राणि के लिए अच्छा नहीं होता है।

इस मिशन में सहयोग देने के लिए ना सिर्फ आम आदमी बल्कि कई बड़े Celebrities भी सामने आए। इस मिशन के प्रचार-प्रसार का जिम्मा इन लोगों ने लिया-

  • सचिन तेंदुलकर | Sachin Tendulkar
  • बाबा रामदेव | Baba Ramdev
  • सलमान खान | Salman Khan
  • अक्षय कुमार | Akashy Kumar
  • प्रियंका चोपड़ा | Priyanka Chopda
  • अनिल अंबानी | Anil Ambani
  • शशि थरूर | Shashi Tharur
  • मृदुला सिन्हा | Mridul Sinha
  • कमल हासन | Kamal Hassan
  • विराट कोहली | Virat Kohli
  • महेंद्र सिंह धोनी | Mahendra Singh Dhoni

तारक मेहता का उल्टा चश्मा सीरियल की पूरी टीम | Tarak Mehta ka oolta Chashma

देश के अस्वच्छ होने के कारण | Cause of India is not being clean:

भारत के स्वच्छ ना होने का पहला कारण हम और आप ही हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि गंदगी, कूड़ा मानव जाति द्वारा ही होती है।

अगर हम लोग सड़कों पर कूड़ा नहीं फेंके तो कई मामले में स्वच्छता बनी रहे।

हमारे देश के स्वच्छ और साफ सुथना ना होने के इसके अलावा कुछ और भी कारण हैं जो निम्म तौर पर लिखे हैं…

शिक्षा का अभाव | Lack of education:

भारत देश शिक्षा के मामले में पिछड़ा हुआ है। अगर लोग शिक्षित नहीं होंगे तो उन्हें कैसे पता चलेगा कि वातावरण प्रदूषित रहने से सृष्टि को कितना नुकसान होता है।

लोगों में स्वच्छ और साफ-सुथरा रहने के लिए भारत में शिक्षा का प्रसार बहुत जरूरी है।

खराब मानसिकता | Bad mindset:

कुछ लोगों को कचरा फैलाने में आंतरिक सुख मिलता है। उनकी मानसिकता कुछ इस तरह की होती है कि जब तक वे गंदगी ना कर लें उन्हें चैन नहीं आता।

फिर वो गंदगी मसाला खाकर थूकने में हो, खुले में शौच हो या फिर कूड़ा फेंकने में हो।

घरों में शौचालयों का ना होना | No Toilets in Homes:

जनसंख्या के मामले में भारत का नाम दूसरे स्थान पर आता है और ऐसे में हर किसी का घर पक्का नहीं है।

भारत की करोड़ों जनसंख्या फुटपाथ या झोपड़ियों में रहती है जिनके पास सिर छुपाने के लिए मुश्किल से छत का इंतजाम होता है।

इसलिए मल-मूत्र त्यागने के लिए वे खुले में जाते हैं जो गंदगी का सबसे मुख्य कारण है।

सार्वजनिक शौचालयों का अभाव | Lack of public toilets:

सार्वजनिक जगहों पर शौचालयों के अभाव से लोग कहीं भी मल-मूत्र त्यागते हैं और इससे बहुत ज्यादा गंदगी होती है।

इनपर बैठने वाली मक्खियां खाद्य पदार्थों पर बैठती हैं जिनकी जानकारी आमतौर पर खाने वाले मनुष्य को नहीं होती है।

कचरे को सही जगह नहीं डालना | No use of Dustbin:

कचरा भारत देश की बहुत बड़ी समस्या है, साल 2017 के आंकड़ों के मुताबिक भारत में प्रतिदिन 1,00,000 मीट्रिक टन कचरा निकलता है और इतनी बड़ी संख्या में कचरा निकलने के बाद भी इसका सही उपयोग नहीं होता है।

उद्योगों का अपशिष्ट पदार्थ | Industrial waste:

हमारे देश में छोटे-बड़े मिलाकर कई उद्योग हैं, जिनसे अलग-अलग प्रकार की कई वेस्ट चीजें या तो फेंक दी जाती हैं या नदियों में प्रवाह कर दी जाती हैं।

इससे हमारी नदियां और सड़कें गंदी होती हैं और अगर उस बीच हवाएं चल गईं तो वातावरण भी दूषित होता है।

स्वच्छ भारत अभियान क्यों जरूरी है? | Why Swachh Bharat Abhiyan is important in Hindi:

भारत में ज्यादातर किसान और मजदूर वर्ग के लोग रहते हैं जिन्हें खाने के लिए दो वक्त की रोटी से खासकर मतलब होता है।

अपने जीवन में उन्हें मजदूरी, खेती और दो वक्त की रोटी से मतलब होता है।

उनके घर में कमरे तो होते हैं लेकिन शौच के लिए वे रेलवे ट्रैक या खेतों में चले जाते हैं, इन गंदगी पर जो मक्खी या कीटाणु बैठते हैं वो किसी ना किसी माध्यम से स्वस्थ शरीर पर चले जाते हैं।

इसके बाद बीमारी और लोगों में गंदगी को बढ़ावा मिलता है।

खुले में शौच, कहीं भी कूड़ा फेंक देना और गंदगी देश को अंधकार में धकेलने का काम करती है।

दूसरे देश से आए हुए अथिति भी अपने देश में जाकर भारत की बुराई करते हैं इससे बचने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने ये मुहीम चलाई।

भारत में जो लोग अपने घरों में शौचालय बनवाने में सक्षम नहीं हैं उनके पास सरकार खुद पैसे देती है जिससे वे इसका निर्माण करवा सके।

जगह-जगह कूड़ेदान का उपयोग किया जाने लगा जिससे लोग कूड़ा इधर-उधर नहीं फेंके।

धीरे-धीरे इस अभियान से सेलिब्रिटी सहित आम लोग भी जुड़ने लगे और इस अभियान का प्रसार पूरे देश में होने लगा।

नरेंद्र मोदी ने Swachh Bharat Abhiyan Logo के तौर पर महात्मा गांधी का चश्मा का चिन्ह रखा जिससे ये प्रदर्शित होता है कि ये महात्मा गांधी का अधूरा सपना था जिसे पीएम मोदी पूरा करने में जुट गए हैं।

इस मुद्दे पर साल 2017 में फिल्म ट्वालेट भी आई जिसमें अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर मुख्य किरदार में थे।

इस फिल्म के प्रमोशन के दौरान अक्षय कुमार ने हमेशा कहा कि ये पीएम नरेंद्र मोदी की मुहीम थी जिसने उन्हें ये फिल्म बनाने के लिए प्रेरित किया।

फिल्म रिलीज से पहले अक्षय पीएम मोदी से मिलने दिल्ली भी गए थे और पीएम मोदी को इस बारे में जानकारी दी कि वे उनक अभियान के ऊपर Toilet : ek prem katha बनाए हैं।

इस बात से पीएम मोदी काफी खुश हुए थे और उन्होंने ट्वीट करके अक्षय कुमार को इसकी शुभकामनाएं दी थीं।

निष्कर्ष | Conclusion:

महात्मा गांधी ने जो कथन स्वच्छता के लिए कहे थे उसे माननीय नरेंद्र मोदी आगे बढ़ा रहे हैं।

इसके तहत स्कूलों में स्वच्छ भारत अभियान के कार्य होने लगे और स्वच्छता से ना सिर्फ तन साफ होता है बल्कि व्यक्ति का मन भी साफ होता है।

तो अब आपको swachh bharat abhiyan slogan in hindi पता चल ही गया होगा, उम्मीद है मेरे पोस्ट में आपको संपूर्ण जानकारी मिल ही गई होगी।

आपको भी इस अभियान में शामिल होना चाहिए और हम सबको मिलकर अपने देश के स्वच्छ भारत अभियान के लक्ष्य को पूरा करना चाहिए,

इससे ना सिर्फ अपना देश सुंदर दिखाई देगा बल्कि हमारे देश की तारीफ पूरी दुनिया में होगी।

5

No Responses

Write a response