system testing in hindi

What is System Testing in Hindi

Definition of System Testing in Hindi:- Computer-based system (कंप्यूटर-आधारित प्रणाली ) सॉफ्टवेयर / हार्डवेयर (software/hardware) दोनों से मिलकर बना होता है।  System Testing  विभिन्न परीक्षणों की एक श्रृंखला है, जिसमें software के साथ-साथ hardware का भी परीक्षण किया जाता है। मतलब system testing में पूर्ण Computer-based system  को एकसाथ यह जाँचने के लिए tests किया जाता है की यह निर्दिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करता है या नहीं।

आमतौर पर System Testing का काम एक टीम द्वारा किया जाता है जो development की टीम में ना हो ताकि system की गुणवत्ता का परीक्षण निष्पक्ष हो सके।

Software Engineering में System Testing के पहले निम्नलिखित मानदंड पुरे हो जाने चाहिये :-

  • Unit Testing पूरा हो जाना चाहिये।
  • Integration Testing पूरा हो जाना चाहिये।
  • सॉफ्टवेयर सिस्टम पुरे तरह से विकसित हो जाना चाहिए।
  • सॉफ्टवेयर को customer द्वारा जिन परिस्थितियों में उपयोग किया जाएगा उस से मिलता जुलता वातावरण उपलब्ध होना चाहिए।

Types of System Testing in Hindi

Types of System Testing in Hindi:- System Testing के मुख्य प्रकार निम्नलिखित है :-

  • Usability Testing में मुख्य रूप से इन बातों की जाँच की जाती है की system उपयोगकर्ता के लिए उपयोग करने में आसान ( ease to use ) है या नहीं।
  • Load Testing में System आवश्यकतानुसार अत्यधिक Work Load झेलने में सक्षम है या नहीं इन बातों की जांच की जाती है।
  • Regression Testing में यह सुनिश्चित किया जाता है की विकास प्रक्रिया के दौरान किए गए परिवर्तनों से या किसी नए सॉफ्टवेयर मॉड्यूल के system से जुड़ने के बाद system में कोई  नए समस्या तो नहीं उत्पन्न हो गई है।
  • Recovery Testing यह जांचने के लिए किया जाता है की किसी संभावित क्रैश से software solution को सफलतापूर्वक पुनर्प्राप्त कर सकता है।
  • Migration Testing यह सुनिश्चित करने के लिए की जाती है कि सॉफ्टवेयर को पुराने सिस्टम इन्फ्रास्ट्रक्चर ( जिसमे software को बनाया गया है ) से मौजूदा सिस्टम इन्फ्रास्ट्रक्चर ( जिसमे customer द्बारा software को उसे किया जायेगा ) में बिना किसी समस्या के स्थानांतरित किया जा सके।
  • Functional Testing इसमें परीक्षक उन संभावित लापता जरूरतों की एक सूची बनाता है जिनकी आवश्यकता सॉफ्टवेयर यूजर्स को पड़ने वाली है। इसमें परीक्षक मुख्य रूप से यह जांचने के का प्रयास करता है कि सिस्टम यूजर्स के सभी संभावित जरूरतों को पूरा करने में सक्षम है या नहीं।
  • Hardware/Software Testing में परीक्षक सिस्टम परीक्षण के दौरान हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर के परस्पर क्रिया पर अपना ध्यान केंद्रित करता है।
System Testing In Hindi

System Testing In Hindi

Example of System Testing in Software Testing in Hindi:- किसी भी सॉफ्टवेयर के कई अलग-अलग हिस्से होते है, उदाहरण के लिए किसी वेब आधारित एप्लीकेशन के मुख्य रूप से तीन अलग-अलग हिस्से होते हैं। वेब एप्लीकेशन के रंग-रूप और ग्राफिक से सम्बंधित पुरे layout को उसका front end कहा जाता है। वह हिस्सा इसमें सर्वर और डेटाबेस से संबंधित तार्किक कोडिंग होता है उससे back end कहा जाता है। तीसरा हिस्सा वह डेटाबेस होता है जहां सभी प्रकार की जानकारियां संग्रहित होती है। इन तीनों को मिलाकर कोई वेब एप्लीकेशन तैयार होता है। जाहिर तौर पर इन तीनों भाग को अलग-अलग प्रकार के सॉफ्टवेयर डेवलपर के द्वारा निर्मित किया जाता है। जब एप्लीकेशन के किसी एक भाग को स्वतंत्र रूप से टेस्ट किया जाता तो उसे Unit Test कहते है। जब एप्लीकेशन के एक भाग को दूसरे के साथ मिलकर टेस्ट किया जाता है तो उसे integration testing कहते है। जब एप्लीकेशन के सभी भाग को एक साथ मिलाकर तैयार कर दिया जाता है और उन्हें पूरी तरह से Launch कर दिया जाता है। तब उन पर System Testing करके इस बात की जांच की जाती है कि एप्लीकेशन को जिस प्रकार से काम करना चाहिए था यह इसी प्रकार से काम कर रहा है या नहीं।

सिस्टम टेस्टिंग प्रोफेशनल विशेषज्ञों के द्वारा किए जाने वाला सबसे आखरी टेस्ट होता है। इसके बाद Acceptance testing नाम का एक आखरी टेस्ट किया जाता है, लेकिन इसे उन लोगों के द्वारा किया जाता है जिनके द्वारा कि इस सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाना है। सॉफ्टवेयर निर्माता कंपनी के कर्मचारियों के द्वारा किया जाने वाला आखिरी टेस्ट सिस्टम टेस्ट होता है।

Advantages of System Testing in Hindi:- सिस्टम टेस्टिंग के लाभ निम्नलिखित रूप से है

  1. यह ग्राहक या अंतिम उपयोगकर्ता के आवश्यकताओं के आधार पर उत्पाद की जरूरतों की जाँच करता है।
  2. यह ग्राहक और उनके कर्मचारी द्वारा उत्पाद की जाँच या acceptance testing करने से पहले ही सभी त्रुटियों को ढूँढने में मदद करता है।
  3. चूँकि इस परीक्षण पद्धति में उत्पाद को सॉफ्टवेयर हार्डवेयर सब को एक साथ मिलाकर पूरे सिस्टम के साथ जांचा जाता है, इसलिए इस टेस्ट के माध्यम से ऐसे महत्वपूर्ण त्रुटियों का पता चलता है जिनका पता की Unit Test या Integration Test के माध्यम से नहीं चल पाया था।
  4. इस टेस्ट में उत्पाद को real business environment या production environment में जाँचा जाता है नतीजतन, यह उत्पाद उपयोगकर्ताओं के विश्वास को बढ़ाने में मदद करता है।
  5. यह black box testing (ब्लैक बॉक्स परीक्षण) का एक रूप है इसलिए परीक्षकों को इसे करने के लिए प्रोग्रामिंग या कोडिंग के ज्ञान की आवश्यकता नहीं है।

Conclusion on System Testing in Hindi:- सिस्टम टेस्टिंग अंतिम उत्पाद जिसमे की सॉफ्टवेयर, डेटाबेस, हार्डवेयर सब सम्मिलित होते हैं उस पर किया जाने वाला test है। इसे यह देखने के लिए किया जाता है कि अंतिम उत्पाद ठीक उसी प्रकार से काम कर रहा है या नहीं जैसे कि उसे करना था।

सिस्टम टेस्टिंग करने से पहले मुख्य उत्पाद को पूरी तरह से बनकर तैयार होना बहुत आवश्यक होता है। साथ ही मुख्य उत्पाद का उस real working environment में तैनात करना भी जरूरी होता है जिसमें अंतिम उत्पाद का उपयोग किया जाना है, अर्थात सॉफ्टवेयर को उसके ग्राहक या costumer के पास ले जाकर Deploy करने के बाद ही उसके सिस्टम टेस्ट की प्रक्रिया को प्रारंभ करना चाहिए।

उम्मीद है कि System Testing in Hindi का यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप सिस्टम टेस्टिंग के इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हमें देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक परिवर्तन करके इसे और अधिक उपयोगी बना सकें।

2

No Responses

Write a response