seo in hindi

SEO क्या है? What is SEO in Hindi (Full Guide)

What is SEO in Hindi: Hello Readers, आज हम आपके साथ एक बोहोत ही Interesting Topic के बारे में बात करेंगे. अगर आप एक Blogger हो या फिर एक Digital Marketer हो तो आपने SEO Word तो जरूर सुना होगा।

आज हम आपको साथ SEO क्या है?, SEO कैसे काम करता है?, SEO करना क्यों जरुरी है?, SEO किनते Types के है इसके बारे में Detail में बात करेंगे।

अगर आप एक Successful डिजिटल मार्केटर बनना सहते हो या फिर एक Successful ब्लॉगर बनना साहते तो आपको SEO सीखना बोहोत जरुरी है. SEO के बिना Digital Marketing या फिर Blogging कभी Complete नहीं होता।

क्या आपने कभी आपने ब्लॉग पर SEO क्या है? अगर की है तो बोहोत ही अत्छी बात है. अगर आप SEO Word को पहली बार सुन रहे तो ये Article सिर्फ आके लिए है.

इस आर्टिकल पे हम आपको Step By Step Beginner Level से लेके Advance Level तक Guide करेंगे।

आप SEO में ये सीखते है की आपको आपने Website या Business को Top पे यानि 1st Position पे कैसे ला सकते है.

जब तक आप Top Position पे है तब तक आपका Business या फिर आपके Blog के लिए Requirement आता रहेगा और जैसे ही आप Google के Second Page पे जायेंगे तो आपको Requirement मिलना बांध हो जायेगा .

क्युकी लोग गूगल के सिर्फ 1st Page पे ही आता है. So आपको SEO सीखना बोहोत ही जरुरी है ताकि आप आपने Business को Top पे लाके Grow कर सको.

सो आप इस आर्टिकल को Last तक जरूर पढ़े. इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप SEO के बारे में बोहोत कुस सीख सकते हो और आपने ब्लॉग या वेबसाइट Apply करके अत्छा Results ला सकते हो.

Seo के करे मई जानने से पहले आपको Search Engine के बारे में जानना बोहोत ही जरुरी है.

Search Engine क्या है? (What is Search Engine in Hindi)

Search Engine एक Directory है. जैसे की पहले की ज़माने में हम किसी Hotel, गाराज या फिर किसी के नंबर सहीये तो हम Phone की Directory खोल के ढूंढ़ते थे.

वैसे ही Search Engine जैसे की Google, Bing, Yahoo पे हम किसी भी Information को ढूंढ़ने के लिए Use करते है. आपके ढूंढ़ने के हिसाब से आपको वोही Information Search Engine आपको Provide करता है.

सभी Search Engine के पास एक Spider होता है जो आपके वेबसाइट या ब्लॉग पे एके Crowl करता है और देखता है की इस Content या Article पे क्या नया है.

और आपके Content को Crowl करके आपने Algorithm के हिसाब से Google ,Bing पे आपके Content को Top Position पे लेके आता है. इसीको Search Engine कहा जाता है.

I Hope आपको सर्च इंजन के बारे में Detail में जानकारी मिल गए होंगे।


SEO क्या है? (What is SEO in Hindi)

SEO के Full Form है Search Engine Optimization. ये एक Process है जो की आपके Website को Google, Bing या फिर Yahoo के Top List पे लेके आते है.

यानि Simply कहा जाये तो अगर आपके पास एक YouTube Channel है या फिर एक Blog है और उसपे Traffic यानि Visitors ही नहीं आ रहे है तो SEO के थ्रू आप आपने Traffic को बढ़ा सकते हो.

अब आप चोस रहे होंगे की आखिर ये काम कैसे करता है? Right?

मान लीजिये आपके पास एक Blog है और आपने वाहा पे कुस Content लेखके Publish कर दिए है.

पर आप जिस Topic पे Content को लेख रखा है उसी पे और बोहोत सारे लोग भी Content बना के रखा है.

तो फिर आपके Content पढ़ेगा कौन?

इसीलिए आपके Content को सबसे पहले लोगो को दिखाने के लिए हमे SEO Optimization करना परता है ताकि हमे हमारे Content को लोगो तक पोहसा सके और हमारा भी Profit हो.

पर हमारे Content को लोगो के दिखने के लिए बोहोत सारे Ways है जैसे की आप Facebook page, Facebook Group या फिर Google पे Ads Run करके भी Traffic लेके आह सकते है.

पर हम और आपके जैसे लोगो पैसे देके लोगो तक नहीं पोहसा सकते है.

और हम Ads, Group और page के थ्रू Limited Audience तक पोहस सकते है पर SEO के थ्रू हम हमारे Content पे Millions Of Traffic ला सकते है.

पर आप एक बात जरूर यद् रखे की SEO सिर्फ Algorithm के हिसाब से काम करता है. Google के जो भी Algorithm है उसके हिसाब से आपके Content को Top की Position दी जाती है.

और एक बार SEO करने के बाद हमेसा के लिए Top की Ranking नहीं रहते है क्युकी internet पर Billions  Websites Available है और Google आपने Algorithm के हिसाब से लोगो को Website Show करवा रहता है.

SEO तीन Techniques के होते है:-

[su_list icon=”icon: arrow-right” icon_color=”#c22d11″]

  • White Hat SEO
  • Black Hat SEO
  • Grey Hat SEO

[/su_list]

White Hat SEO:

White Hat SEO एक SEO के Technique है जो हम आपने Website को Top पे लाने के लिए Use करते है. White hat SEO में आप सभी सीज Organically करते है.

इसमें आप अत्छे से Website को बनाते है और वाहा पे अत्छा सा Content लिखते है और दुसरो के साथ आप आपने Blog के बारे में बात करते है और आपके ब्लॉग को Organically किसी और उसके ब्लॉग पे लिंक देके लोगो तक Content को Refer करते है और हमे Organic ranking मिलती है और इसीको White Hat SEO Technique कहा जाता है.

Black Hat SEO:

SEO के दूसरे Technique है Black Hat SEO. Black Hat SEO में लोग किसी और को कुस amount pay करके लोगो से हम Links लेते है. जिस तरीके से लोगो को पैसे देके आपने बारे में बात करवाते हो तो इस Technique को Black Hat SEO काहा जाता है.

Grey Hat SEO:

SEO के तीसरे Technique है Grey Hat SEO. Grey Hat SEO में हम हमारे जो Main Website है उसपे हमारे ही और १० या ५० Website से Links लेते है और Google पे Rank होने की कोसिस करते है तो हम उसको Grey Hat SEO Technique कहते है.

ORGANIC

इस Pic पे आपको देख रहा होगा 79. 22% ट्रैफिक Organic है. मतलब हमने आपने साइट पे White hat technique Use किया है और हमे Google के First Page पर से SEO के थ्रू Organic Traffic मिल रहा है.


Also Read: Website/Blog कैसे बनाये? | Website Kaise Banaye | 20 मिनिट में


SEO के सबसे Important Factors:

दोस्तों देखा जाये तो SEO के मिनिमम 200 Factors है. जिनसे आपके Website के Content Google पे Rank करता है. यहाँ पे हम आपके साथ SEO के सबसे Important Factors के बारे में बात बारेंगे जो की आपको जानना बोहोत ही जरुरी है. तो आइये देखते है:

1.Domain Authority:

Domain Authority एक Score है जो ये बताता है की Internet पर आपके साइट की Authority या Value कितना है. देखा जाये तो ये Score 100 में से होता है.

और जिसके भी साइट की DA ज्यादा है यानि मिनिमम 20 के ऊपर है उनकी Website गूगल के Top पे आने की Chance ज्यादा है यानि Ranking जल्दी मिलते है.

क्या आपको पाता हे ये Domain Authority कैसे Decide किया जाता है? बोहोत लोगो को Confusion होता है की हमारे DA कैसे बढ़ते है.

Domain Authority बढ़ता है, आपके वेबसाइट कितना पुराना होता हे और Market मई आपके साइट का Value क्या है उसके हिसाब से आपके वेबसाइट की Domain Authority बढ़ता है.

गूगल के हिसाब से जितना पुराण आपका साइट है Internet पर उसका Value भी ज्यादा है.

Domain Authority Check करने के लिए आपको इंटरनेट पे बोहोत सारे Tools या Website हे वाहा से आप Check कर सकते है.

मेरे Favourite Tool है Moz. ये एक बोहोत ही पुराना Tool है और ये काफी Popular है और ये आपके साइट के Domain Authority Accurate बताता है.

Domain Score

2. Choice Of Keywords:

आप आपने वेब्सीटेस पे जिन सब्दो का इस्तेमाल करेंगे यानि जिन सब्दो का उसे करके आर्टिकल लिखेंगे उन सब्दो के हिसाब से आपके साइट पे ट्रैफिक आएगा। सब्द दो टाइप्स के होते है:

[su_list icon=”icon: arrow-right” icon_color=”#c22d11″]

  • High Search Volume Keywords(हाई सर्च वोलुमन कीवर्ड्स)
  • Low Search Volume Keywords (लौ सर्च वोलुमन कीवर्ड्स)

[/su_list]

हाई सर्च वोलुमन कीवर्ड्स पे लोग उनके बारे में ज्यादा धुनते रहते है. और लौ सर्च वोलुमन कीवर्ड्स पे लोग उनके बारे में कम धुनते है.

For Example:

यहाँ पे आपको देखने को मिलेगा की “how to make money online” Keywords को लोग ज्यादा Search करते है. इसके बारे में लोग ज्यादा धुनते है तो इसका Search Volume भी ज्यादा है. 

Low search Volume Keyword

high search Volume Keyword

दूसरे Pic पे जो Keyword है “how to make money offline ” उसका Search Volume कम हे लोग इसके बारे में उतना जानना नहीं साहते हे so इसका Search Volume कम है ।

High search volume keyword

low search volume keyword

3.Backlinks:

दोस्तों Backlinks SEO के एक सबसे Important Factor में से एक है. अगर आपके साइट पे मेरे साइट से एक Link को Refer करते हो तो मुझे एक Backlink मिल जाता है.

Without Backlinks हम किसी भी Article को Top की Ranking पे नहीं ला सहते है. I know की बैकलिंक्स के बिना भी Content Rank करता है पर अगर आप एक Competitive Niche पे है और आप को Top Position पे अपने Content को लाना है तो Backlinks आपको Help करता है.

देखा जाये तो Backlinks बनाने के बोहोत सारे तरीके है पर अगर आप किसी भी लौ Low Domain Authority साइट से बैकलिंक्स लेते हो तो आपका ranking इतना अत्छा नहीं मिलेगा।

अगर आपको आपके Niche के Related High DA(Domain Authority), PA(Page Authority) Site से बैकलिंक्स लेते हो तो आपको रैंकिंग जल्दी मिल सकते है.

4.Content Quality:

आज के टाइम पे Internet पे Billions Of Website Available है और Daily लाखो के तादात पे Content Published होता है.

अगर आपके Content Quality का नहीं है तो कही ना कही आपके साइट के रैंक ना होने का कारन ये भी हो सकता है .

Content की Quality आज के time पे सबसे ज्यादा Important Ranking Factor है.

आपने तो सुना ही होगा “Content is king”.

अगर आपका Content Quality का नहीं है और आप जितना भी SEO क्यों ना कर लो आपको गूगल में top के Position कभी नहीं मिलेगा।

Content Quality का हो तो आप Backlinks के बिना Rank कर सकते हो.

और एक Important बात ये है की एक बार आप Top के Position लेने पर भी कुस Time बाद आपके Ranking Down भी हो सकता है So आप आपने Site के Content को Time पे Update करते रहे.

और जितना हो सके अत्छा Content आप साइट पे डालते रहे तभी आपका साइट Grow करता रहेगा ।

गूगल Loves New Content But तभी आपको रैंकिंग मिलेंगे जब आप लोगो के साथ Value Add करोगे With सभी Ranking Factor को White Hat तरीके से Use करके।

5.Social Sharing:

Social Sharing भी SEO के एक Ranking Factor में से एक है. Google किसी भी Content को Top पे Rank करने के लिए ये देखता है की आपकी साइट के Content को लोग कितना Share करते है, कितना Comments करते है, जितना Engage आपके Content Social Media Platform पे होता है उतना ही Positive Signal जाता है आपके Content की Top पे Rank करने के.

So आप हर Social Media पे Active रहे. लोगो के जो भी Problems है उनको आपके साइट के थ्रू help करने की कोसिस करे. तब आपके Social Reach बढ़ने के साथ साथ Google पे भी Top की रैंकिंग मिलेंगे।

6.Website Content Consistency:

देखा जाये तो ब्लॉग्गिंग पे लोग Start तो करते है पर उनको paissens ना होने की कारन वो लोग कुस Content डालने के बाद Content डालना बध कर देते है.

पर आपको ऐसा नहीं करना सहिये। Website Content Consistency एक  बोहोत Important SEO Factor है जो लोग ध्यान नहीं देते है.

अगर आप SEO के थ्रू गूगल पे रैंक करना है तो आपको बोहोत Time के बाद ही रैंकिंग मिलते है. SEO एक Long Term Process है.

आपको और एक बात जरूर ध्यान रखना बोहोत हि जरुरी है की आपको कंटेंट की Consistency और अत्छा कंटेंट टाइम तो टाइम Publish करते रहना सहिये ताकि आपके साइट पे कुस Content के किसी Keywords पे Rank कर जाये।

आप लोगो को एक बात जरूर गौर करना सहिये की जितना ज्यादा Content उतना ही आपके साइट का ट्रैफिक आने की Possibility ज्यादा होता है.

इसलिए आप हर दिन ना हो तो Weakly में एक पोस्ट जरूर Published करिये।

7.Website Navigation:

दोस्तों Website Structure और Navigation एक बोहोत ही Important role play करता है SEO में. अभी के टाइम पे अगर आप किसी Free Theme को लेके और ख़राब Navigation के साथ वेबसाइट पे काम करते हो तो आपको Ranking में Problem आ सकता है.

इसलिए आप जितना हो सके एक Light weight Theme Buy करे और उसका Simple Design रखे ताकि User को सही Format के साथ आपका Content मिल जाये।

Website की Navigation अत्छा ना होने की कारन लोग आपके साइट को Back करेंगे उससे आपका Bounce Rate ज्यादा होगा और Ranking down होता जायेगा। So आप Website के Structure और Navigation पे जरूर ध्यान दे.

8.HTTP’s Encryption:

अभी के टाइम पे अगर आपके साइट https पे नहीं है तो आप बोहोत बड़ी गलती कर रहे हो. इन २०२०, अगर आपका साइट Http पे है तो गूगल को लगता है की आपके Site Secure नहीं है.

इसलिए आपके Website को Google Top पे नहीं लेके जाते है.

But आपको ये जानना बोहोत ही जरुरी है की Https Encryption एक बड़ा Ranking Factor है. आप जो भी Hosting Use करते हो वाहा पे ही आपको Https Certificate Free में Install कर सकते हो.

नहीं तो Internet पर आपको बोहोत सारे Free Platform मिल जायेंगे जो की आपको https Free मई Provide कर देगा।

So अगर आपके पास एक वेबसाइट है और Http पे है तो आप अभी Https Certificate को आपने साइट पे Install कर ले.

9.Mobile-First User Experience:

इसके बाद का जो सबसे Important SEO Factors है Mobile First User Experience। देखा जाये तो आज कल हर कोई Mobile का Use करता है. धीरे धीरे इसका Number बढ़ रहा है. अगर आपके वेबसाइट Mobile Friendly नहीं है तो User आपके Content से Satisfy नहीं होगा और आपके Page को सोर के दूसरे के Web Page पे Land करेगा।

इससे आपके जो Ranking है वो Down होता जायेगा। आपके साइट Mobile Friendly है या नहीं इसको Check करने के लिए Google का ही एक Tool है:

mobile friendly

आप आपने Website Url को दाल के Run Test पे Click करे. इसके बाद आपको आपके Site पे अगर कुस Error है तो देख जायेगा। एक बार आप इस Tool का Use जरूर करे और आपने Website को Mobile Friendly बनाये।

10. Title Tag & Meta Tag:

इसके बाद का जो Important SEO Factor है Title Tag & Meta Tag. आपके Title और Meta Tag से ही User Decide करेगा की उनको आपके Site पे Visit करना है या नहीं।

For Example:

Title & Meta Tag

आप हमेसा वेबसाइट के Title Attractive रखे. जो भी Keyword को Target करके आप आर्टिकल लेख रहे तो उसको Title और Meta Description पे जरूर Add करे. साथ में आपका Webpage का जो Permalink है उसपे आपका Only Focus Keyword ही रखे. इससे भी Google पे Ranking जल्दी मिलते है.

इनसे भी और बोहोत सारे SEO Factor है जो की आपके Ranking पे बोहोत ही काम आता है. आप इस सभी SEO Factor को आपने साइट पे Implement जरूर करे.


Types Of SEO in Hindi:

SEO दो Types के होते है पहला On Page SEO और दूसरा Off Page SEO. इसके बाद भी और एक टाइप्स है वो है Local SEO.

[su_list icon=”icon: arrow-right” icon_color=”#c22d11″]

  • On Page SEO
  • Off Page SEO
  • Local SEO

[/su_list]

सलिये अब हम इन सभी Types के बारे में Detail में जानते है:


On Page SEO:

On Page SEO मलतब जो भी हम एक वेबसाइट के अंडर करते है. जैसे की एक अत्छा SEO Friendly Theme Install करना, आपने साइट का Title Tag, Meta Description Add करना और भी बोहोत सारे Important Factors On Page SEO के अंदर आता है.

क्या आपको पाता हे On Page SEO हमारे साइट को Rank करने के लिए बोहोत Important Role Play करता है.

अगर आपके साइट का On Page SEO Strong है तो आप With Out Backlinks भी Site को Rank कर सकते हो.

हम अगर Short में कहे तो हम आपने Content के अंदर जो भी करते है उसको On Page SEO कहा जाता है.

जैसा की मैंने पहले ही आपको बताया था. ON Page SEO में आता है:

[su_list icon=”icon: arrow-right” icon_color=”#c22d11″]

  • Website Speed
  • Website Navigation
  • Title Tag
  • Meta Tag
  • Post URL
  • Internal Links
  • Alt Tag Etc

[/su_list]


OFF Page SEO:

SEO के दूसे जो Important Type है वो है OFF Page SEO या OFF Site SEO. देखा जाये तो किसी Website को Rank करने के लिए OFF Page SEO बोहोत ही Important Role Play करता है.

OFF Page SEO वो है जो आप वेबसाइट के बाहार करते हो. OFF Page SEO में बोहोत सारे Factors है जैसे की:

[su_list icon=”icon: arrow-right” icon_color=”#c22d11″]

  • Search Engine Submission
  • Directory Submision
  • Book marking
  • Social Media
  • Blog Commenting.
  • Guest Post.

[/su_list]


Local SEO:

तीसरे जो SEO Types है वो है Local SEO। आपने कभी ना कभी Local SEO के बारे में तो जरूर सुना होगा।

नहीं सुना हे तो कोई बात नहीं।

Local Word से ही आपको पता सल गया होगा की हम किसी नज़दीकी या आसपास के जगह या सीज के बारे में बोले तो इस Word को Use करते है.

Local SEO में हम किसी भी Service या Product को किसी भी Specific जगह( Like-State,City Dist.) पे Promote करते हे Seo के थ्रू उसी को हम Local SEO कहते है.

आज हर कोई आपने Business को Digitally Shift कर रहा हे. उसी के Basis पे Competition भी बोहोत ज्यादा है तो हम आपने Business को Online पे Promote करने के लिए SEO यानि Local SEO करते है.

सलिये अब हम एक Example के थ्रू Detail में समज ते है:

मान लीजिए आपके एक Digital Marketing Institute है और आप साहते है की आपके Institute Internet पे आपके City या District पे सहसे पहले आये ताकि आपको ज्यादा से ज्यादा Business मिले।

local seo

देखने में आसान लगता है पर Website को Design करने से लेके Reviews लेने पर भी साइट rank नहीं करते है.

इसलिए हमे Locally Business को Promote करने के लिए Local SEO को सीखना बोहोत ही जरुरी है.


SEO और SEM में अंतर क्या है?

SEO और SEM दोनों ही SEO में Important Role Play करता है. आइये इसके अंतर के बारे में जानते है :

[su_table responsive=”yes”]

SEOSEM
SEO यानि Search Engine Optimization एक ऐसी Process है जो एक Blogger या फिर एक Digital Marketer आपने Website या Blog को 1st Position पे लाने के लिए Use करते है. SEM यानि Search Engine Marketing भी एक Marketing Process है जो भी किसी भी बिज़नेस को या Blog को Search पे ज्यादा Visible बनता है साहे वेबसाइट पे Traffic Organic SEO से आता हो या फिर Paid Advertisement से.

[/su_table]

SEO का Main Motive ये है की अपनी Business को Blog, website के माध्यम से ढंग से Google में Top Position के लिए Optimize करके Google पर Present करना or SEM पे आप को SEO से भी ज्यादा Traffic ला सकते हो. इसमें आप Inorganic तरीके से Socially, PPC advertising से और काफी तरीके से Traffic ला सकते हो.



Conclusion:

दोस्तों आज के हमारे इस आर्टिकल पे बस इतना ही था. I Hope आप सबको What is SEO in Hindi के बारे में detail में जानकारी मिल गए होंगे।

आपको हमारा आज का आर्टिकल कैसा लगा Comment पे जरूर बताये। अगर आपको SEO के Related और भी जानकारी सहिये तो हमे जरूर बताये।

अगर आर्टिकल पसंद आया तो आप आपने दोस्तों को शेयर करने के साथ साथ Social Media Facebook, Twitter पे भी जरूर Share  करे.

9

No Responses

Write a response