white box testing in hindi

What is White Box Testing in Hindi

Definition of White Box Testing in Hindi :- व्हाइट बॉक्स टेस्टिंग  सॉफ्टवेयर परीक्षण की एक विधि है जिसमें सॉफ्टवेयर के आंतरिक संरचना / डिजाइन / coding / कार्यान्वयन ( implementation ) को Test किया जाता है।  white box testing  के लिए, परीक्षक को Software के  source code में छुपे problem को ठीक करना होता है और साथ ही code के आंतरिक कार्य प्रणाली का भी ध्यान रखना होता है ।

Software Engineering में WHITE BOX TESTING को Open Box Testing, Glass Box Testing, Transparent ( पारदर्शी  ) Box Testing, Code-Based Testing or Structural ( संरचनात्मक ) Testing भी कहा जाता है |

व्हाइट बॉक्स टेस्टिंग में सॉफ्टवेयर कोड पर निम्नलिखित परीक्षण किये जाते है :-

  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर द्वारा कोडिंग की प्रक्रिया में हुए कोई संभावित भूल।
  • सोर्स कोड में मौजूद कोई आंतरिक सुरक्षात्मक कमी।
  • कोड का कोई ऐसा हिस्सा जो टूटा हो या खराब हो।
  • कोड के माध्यम से विशिष्ट इनपुट का प्रवाह।
  • सोर्स कोड में उपयोग किये गए सभी conditional loops की कार्यक्षमता।
  • एक-एक करके प्रोग्राम में मौजूद सभी statement, object, और function के कार्य का परीक्षण।
  • सोर्स कोड के प्रत्येक हिस्से से अपेक्षित output प्राप्त हो रहा है की नहीं इसकी जाँच।

Advantages and Disadvantages of  White box testing in Hindi

Advantages of  White box testing in Hindi:- व्हाइट बॉक्स परीक्षण के लाभ निम्नलिखित रुप से है

  • किसी Software के पुरे code का विस्तार से अध्यन कर के सभी आतंरिक एवं छिपे हुए त्रुटि को निकल दिया जाता है इससे code के अतिरिक्त लाइनों को हटाने में मदद करता है।
  • White box testing के लिए प्रोग्राम user interface की आवश्यकता नहीं होती, इसलिए व्हाइट बॉक्स टेस्टिंग करने के लिए Software को पूरी तरह से तैयार होने का इंतजार नहीं करना पड़ता है | Software के किसी एक हिस्से को लेकर उस पर व्हाइट बॉक्स टेस्टिंग किया जा सकता है |
  • WhiteBox Testing में software के source code को छोटा और साफ़ – सुथरा बना दिया जाता है | जिससे भविष्य में program को redesign करते समय software developers को काफ़ी फयदा होता है |

Disadvantages of WhiteBox Testing in Hindi:- व्हाइट बॉक्स परीक्षण के हानि निम्नलिखित रुप से है:-

  • व्हाइटबॉक्स टेस्टिंग काफी जटिल और महंगा हो सकता है।
  • व्हाइट बॉक्स पैकिंग की प्रक्रिया में बहुत अधिक समय और श्रमशक्ति की आवश्यकता होती है। किसी बड़े सॉफ्टवेयर प्रोजेक्ट में लाखों लाइन के सोर्स कोड होते हैं, इसलिए प्रत्येक statement का एक-एक करके जांच करने में बहुत अधिक समय और श्रमशक्ति लगाना पड़ता है।
  • इसके उपयोग से केवल code में मौजूद गलतियों को ढूंढा जाता है, अगर कोड में कोइ नया भाग जोड़ने की आवश्यकता हो तो उससे संबंधित सुझाव देने की क्षमता इसमें नहीं होती है।
  • आमतौर पर WhiteBox Testing की प्रक्रिया को software developers के द्वारा किया जाता है , अगर कभी developer से कोई गलती हो जाता है तो पुरे Software system के fail होने जैसे समस्या उत्पन हो जाती है  |
  • White-box testing में काफी समय लगता है किसी बड़े programming application को टेस्ट करने में कई महीने लग जाते है |

Tools used for White Box Testing in Hindi

white box testing in hindi

White Box Testing in Hindi

Tools used for White Box Testing in Hindi :- व्हाइट बॉक्स टेस्टिंग को आसान और स्वचालित ( Automate ) करने के लिए कई प्रकार के Tool का उपयोग किया जाता है | इन tools के उपयोग से testing के काम को कम समय और पैसे के उपयोग से किया जा सकता है | व्हाइट बॉक्स  टेस्टिंग में उपयोग होने वाले कुछ प्रमुख्य tools निम्नलिखित है :-

  • Veracode
  • EclEmma
  • RCUNIT
  • NUnit
  • JSUnit
  • JUnit
  • CppUnit

Types of White Box Testing in Hindi

Types of White Box Testing in Hindi:-

  1. Unit Testing:- किसी भी सॉफ्टवेयर कोड को कई सारे मॉड्यूल या इकाई में बाँटा जा सकता है, UNIT TESTING सॉफ्टवेयर परीक्षण का एक स्तर है जहाँ किसी सॉफ़्टवेयर की विशेष मॉड्यूल या कोड की इकाई का परीक्षण किया जाता है ।
  2. Static and dynamic Analysis:- कोड में किसी भी संभावित दोष का पता लगाने के लिए Static Analysis में कोड के प्रत्येक भाग का विश्लेषण किया जाता है । dynamic Analysis में कोड को execute ( निष्पादित ) करके मिलने वाले आउटपुट का विश्लेषण किया जाता  है।
  3. Statement Coverage:- इस प्रकार के परीक्षण में कोड को इस तरह से execute ( निष्पादित ) किया जाता है कि कोड का प्रत्येक भाग कम से कम एक बार निष्पादित हो जाये |  इससे आश्वस्त करने में मदद करता है कि कोड में लिखा सभी statements बिना किसी Problem  के निष्पादित होते हैं।
  4. Security Testing:- Security Testing यह पता लगाने के लिए किया जाता है कि Software किसी unauthorized access ( अनधिकृत पहुंच ) , हैकिंग – क्रैकिंग, आदि से कितनी अच्छी तरह से रक्षा कर सकता है, इस प्रकार के परीक्षण के लिए जटिल परीक्षण तकनीकों की आवश्यकता होती है।
  5. Mutation Testing:- एक प्रकार का परीक्षण जिसमें, सॉफ्टवेयर के उस कोड को test किया जाता है जिसे किसी विशेष  दोष को ठीक करने के बाद संशोधित किया गया था। Mutation Testing यह पता लगाने में भी मदद करता है कि कोडिंग की कौन सी strategy कार्यक्षमता को प्रभावी ढंग से विकसित करने में मदद कर सकती है।

 

Conclusion on White Box Testing in Hindi:- व्हाइट बॉक्स टेस्टिंग के उपयोग से सॉफ्टवेयर प्रोग्राम के code में मौजूद सभी संभावित त्रुटियों को ढूंढने के लिए किया जाता है। इसके उपयोग से कोड के प्रत्येक लाइन को एक-एक करके उसमें मौजूद सिंटेक्स एरर (Syntax Error) की जांच की जाती है। इसके साथ ही इसमें यह भी देखा जाता है की प्रोग्राम के सोर्स कोड के प्रत्येक हिस्से को जिस अपेक्षित आउटपुट के लिए लिखा गया था वह अपेक्षित Output उससे प्राप्त हो रहा है या नहीं।

उम्मीद है की White Box Testing in Hindi का यह लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप इस आर्टिकल से संबंधित कोई सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें जरूर बताएं जिससे कि हम अपने लेख में आवश्यक सुधार करके इसे और अधिक उपयोगी बना सके।

1

No Responses

Write a response